ताज़ा खबर
 

अमेरिका ने भारत से किया आग्रह, कहा- J&K में नजरबंद किए गए कश्मीरी नेताओं को ‘बिना आरोप’ रिहा करें

हाल ही में अमेरिका, वियतनाम, बांग्लादेश, मालदीव, मोरक्को, फिजी, नॉर्वे, फिलीपींस, अर्जेंटीना समेत 15 देशों के राजदूतों ने कश्मीर घाटी का दौरा किया था और वहां के हालात का जायजा लिया था।

alice wellsअमेरिका की एशिया मामलों की शीर्ष अधिकारी एलिस वेल्स। (एएनआई इमेज)

अमेरिका ने भारत सरकार से आग्रह किया है कि वह जम्मू कश्मीर में बिना चार्ज के हिरासत में रखे गए नेताओं को रिहा करे। अमेरिका में दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की डिप्टी सेक्रेटरी एलिस वेल्स ने मीडिया से बात करते हुए उक्त बात कही। .

वेल्स ने कहा कि ‘जम्मू कश्मीर में लिए जा रहे कदमों से वह खुश हैं, जिनमें आंशिक तौर पर कश्मीर में इंटरनेट सेवाएं बहाल करने जैसे कदम शामिल हैं। इसके साथ ही कई देशों के राजदूतों द्वारा जम्मू कश्मीर का दौरा करने पर भी वह संतुष्ट हैं।’

वेल्स ने भारत सरकार से अपील की कि ‘वह जम्मू कश्मीर में बिना चार्ज के हिरासत में रखे गए नेताओं को रिहा करे।’ बता दें कि हाल ही में अमेरिका, वियतनाम, बांग्लादेश, मालदीव, मोरक्को, फिजी, नॉर्वे, फिलीपींस, अर्जेंटीना समेत 15 देशों के राजदूतों ने कश्मीर घाटी का दौरा किया था और वहां के हालात का जायजा लिया था।

एलिस वेल्स ने हाल ही में भारत का दौरा किया था। बता दें कि भारत सरकार ने बीती अगस्त में जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करते हुए वहां से आर्टिकल 370 के प्रावधान हटा दिए थे। जिसके बाद से जम्मू कश्मीर के कई नेताओं को नजरबंद कर दिया गया था। कई नेताओं को हाल को सरकार द्वारा धीरे-धीरे रिहा कर दिया गया है। हालांकि अभी भी कई नेता नजरबंद हैं।

हाल ही में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी अमेरिका का दौरा किया था। जहां उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी। इस मुलाकात में भी इमरान खान ने ट्रंप से कश्मीर मामले में दखल देने की गुहार लगायी थी। जिसके बाद ट्रंप ने भी कश्मीर के हालात पर अपनी नजर होने की बात कही थी। हालांकि भारत सरकार ने बयान जारी कर स्पष्ट कर दिया है कि जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और इसमें किसी तीसरे देश का दखल स्वीकार नहीं किया जाएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी और प्रशांत किशोर में बढ़ी रार, PK ने ट्वीट कर कहा- लोगों को कैरेक्टर सर्टिफिकेट देने में सुशील मोदी जी का कोई जोड़ नहीं
2 असम में CAA के खिलाफ प्रदर्शन में कांग्रेस यूथ विंग का अध्यक्ष गिरफ्तार, वित्त मंत्री ने हिंसा वाली जगह पर कांग्रेस नेता की मौजूदगी का वीडियो किया था जारी
3 Delhi 2020: चार बार विधायक रहे हरशरण सिंह बल्ली बीजेपी छोड़ आप में शामिल, सिख वोट खिसकने का खतरा
ये पढ़ा क्या...
X