ताज़ा खबर
 

गलत आदमी को आरबीआई गवर्नर समझ ले गए नीति आयोग के अफसर, उर्जित पटेल पहुंचे तो गार्ड ने मांगा आईडी कार्ड

उर्जित पटेल ने बिना किसी हिचकिचाहट के एक सामान्य व्यक्ति की तरह गेट पर तैनात सीआईएसएफ जवान को अपना आईकार्ड दिखाया, जिसके बाद जवान ने उन्हें अंदर जाने दिया।

Author नई दिल्ली | September 8, 2016 18:44 pm
पंकज पटेल ने कहा कि रिजर्व बैंक उचित व्यवहार नहीं कर रहा है।

रिजर्व बैंक के नए गवर्नर उर्जित पटेल की सादगी ने नीति आयोग के अधिकारियों को गलतफहमी में डाल दिया। पूरा वाकया कुछ यूं था, भारतीय रिजर्व बैंक के 24वें गवर्नर के रूप में विगत मंगलवार को अपना पदभार संभालने के बाद उर्जित पटेल नीति आयोग के साथ अपनी पहली बैठक के लिए दिल्ली के संसद मार्ग स्थित प्रधान कार्यालय पहुंचे।

उर्जित पटेल का नीति आयोग के चेयरमैन अरविंद पनगड़िया के साथ मंगलवार शाम को बातचीत का कार्यक्रम तय था। नीति आयोग के प्रधान कार्यालय के अधिकारियों ने उर्जित के स्वागत के लिए सारी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली थीं और एक वरिष्ठ अधिकारी कार्यालय के रिसेप्शन पर उनके आने का इंतजार कर रहे थे। तभी कार्यालय के गेट पर एक महंगी कार आकर रुकी और उन अधिकारी महोदय ने घड़ी में समय देखा। उर्जित के आने का समय हो गया था। उन्होंने आनन-फानन में उस गाड़ी की तरफ बढ़कर स्वागत की रश्म अदायगी पूरी की और उसमें सवार व्यक्ति को उर्जित पटेल समझ उसकी आगवानी करते हुए उसे नीति आयोग के कार्यालय के मेन गेट तक लेकर आए।

इसके कुछ ही मिनट बाद उर्जित पटेल भी अपनी कार से वहां पुहंचे और हाथ में दस्तावेजों का बंडल लिए हुए अकेले ही नीति आयोग प्रधान कार्यालय के मेन गेट पर पहुंचे। मेन गेट पर तैनात केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के जवान ने उर्जित को नहीं पहचाना और उन्हें अंदर जाने से रोकते हुए अपना आईडी कार्ड दिखाने के लिए कहा। उर्जित पटेल ने बिना किसी हिचकिचाहट के एक सामान्य व्यक्ति की तरह सीआईएसएफ जवान को अपना आईकार्ड दिखाया, जिसके बाद जवान ने उन्हें अंदर जाने दिया।

Read Also: ऑडी ने लॉन्च की नई ए4 सेडान, कीमत 38.1 लाख रुपए से शुरू

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App