ताज़ा खबर
 

UPSC Civil Services 2016 Result: कर्नाटक की नंदिनी ने हासिल किया पहला स्थान, टॉप-3 में दो लड़कों ने मारी बाजी

सिविल सेवा परीक्षा 2016 की दिसंबर 2016 में आयोजित हुई लिखित परीक्षा और मार्च-मई 2017 में पर्सनैलिटी टेस्ट के लिए हुए इंटरव्यू के आधार पर रिजल्ट जारी किया है।

यूपीएससी टॉपर नंदिनी। (ANI Photo)

कर्नाटक की नंदिनी के. आर. ने संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएससी) 2016 की परीक्षा में शीर्ष स्थान हासिल किया है। नंदिनी के बाद अनमोल शेर सिंह बेदी और गोपालकृष्ण रोननकी दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। आयोग की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, यूपीएससी की लिखित परीक्षा दिसंबर 2016 में हुई थी, और उसके बाद इस वर्ष मार्च और मई के बीच साक्षात्कार व व्यक्तित्व परीक्षण हुए थे। यूपीएससी टॉपर नंदिनी ने रिजल्ट आने के बाद कहा कि यह उनके लिए बहुत खुशी का पल है। उन्होंने कहा कि यह सपने के सच होने जैसा है। इस सफलता को लेकर वो बहुत उत्साहित हैं। वह ओबीसी कैटेगरी से आती हैं और उन्होंने वैकल्पिक विषय के रूप में कन्नड़ साहित्य लिया था। नंदिनी सिविल इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं। वहीं, यूपीएससी की परीक्षा में दूसरे नंबर पर रहने वाले अनमोल सिंह बेदी ने अपने सक्सेस पर कहा कि मुझे सच में इस पर भरोसा नहीं हो रहा है। यह सब भगवान की कृपा के कारण हुआ है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • MICROMAX Q4001 VDEO 1 Grey
    ₹ 4000 MRP ₹ 5499 -27%
    ₹400 Cashback

बयान के अनुसार, कुल 1,099 उम्मीदवारों की नियुक्ति के लिए सिफारिश की गई है, और इसके अतिरिक्त 172 उम्मीदवारों की एक आरक्षित सूची भी है। बयान में कहा गया है कि परिणाम यूपीएससी की वेबसाइट पर देखे जा सकते हैं। परीक्षा परिणाम घोषित होने की तिथि से 15 दिनों तक अंक वेबसाइट पर उपलब्ध रहेंगे।

अखिल भारतीय स्तर पर पहला स्थान प्राप्त करने वाली नंदिनी ने कहा कि वह हमेशा से आईएएस अधिकारी बनना चाहती थीं। भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस), भारतीय पुलिस सेवा और अन्य केंद्रीय सेवाओं के अधिकारियों के चयन के लिए यूपीएससी तीन चरणों – प्रारंभिक, मुख्य एवं साक्षात्कार – में सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करती है।

देखिए वीडियो - “2017-18 से फिर से शुरू होगी CBSE स्कूलों की दसवीं की बोर्ड परीक्षा”: प्रकाश जावडेकर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App