scorecardresearch

Assam-Meghalaya Border: सीमा पर दो दिन पहले हुई फायरिंग में छह लोगों की मौत पर हंगामा, जवानों पर हमला कर फूंके पुलिस के वाहन, 48 घंटे तक इंटरनेट बंद

Assam-Meghalaya Border Clash: सरकार ने एहतियात के तौर पर 7 जिलों में इंटरनेट बैन करने का फैसला किया है। पुलिस का कहना है कि उपद्रवियों ने पेट्रोल बम से जवानों पर हमला किया।

Assam-Meghalaya Border: सीमा पर दो दिन पहले हुई फायरिंग में छह लोगों की मौत पर हंगामा, जवानों पर हमला कर फूंके पुलिस के वाहन, 48 घंटे तक इंटरनेट बंद
Assam-Meghalay Border Clash: तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए (Photo- ANI/FileI)

Clash on Assam-Meghalaya Border: असम-मेघालय बार्डर (Assam Meghalaya Border) पर 22 नवंबर को फायरिंग (Firing) में छह लोगों की मौत के मामले ने आज तूल पकड़ लिया। लोगों के हुजूम ने पुलिस (Police) पर ही हमला कर दिया। तीन सरकारी वाहनों के साथ एक सिटी बस को भी फूंक दिया गया है। सरकार ने एहतियात के तौर पर 7 जिलों में इंटरनेट बैन (Internet Ban) करने का फैसला किया है। पुलिस (Police) का कहना है कि उपद्रवियों ने पेट्रोल बम से जवानों पर हमला किया।

ये था पूरा मामला (Know What is the Matter)

मंगलवार (22 नवंबर) को असम और मेघालय राज्यों की सीमा (Assam Meghalaya Border) पर गोलीबारी (Firing) में 6 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद इस मामले में इतनी ज्यादा हिंसा (Violence) भड़क गई है। बॉर्डर पर वाहनों में आगजनी की गई अधिकारियों ने बताया कि इस मामले एक ट्रक में कुछ लोग लकड़ियां लेकर जा रहे थे इस दौरान पुलिस ने वाहन को रोकने की कोशिश की बस इसी दौरान पुलिस और लकड़ी ले जा रहे लोगों में टकराव हुआ और गोलीबारी हुई इस गोलीबारी में 6 लोगों की मौत हो गई जिसके बाद वहां हिंसा भड़क गई।

छात्र संगठन (Student Union) के सदस्यों ने किया हंगामा

असम -मेघालय बॉर्डर पर हुई हिंसा को लेकर छात्र संगठन के सदस्यों ने इयालोंग सिविल अस्पताल में प्रदर्शन किया। इसी अस्पताल में उन 6 लोगों के शव पोस्टमार्टम के लिए रखे हुए हैं जो गोलीबारी में मंगलवार को मारे गए थे। छात्र संगठन के सदस्यों ने इन 6 लोगों की हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को मेघालय पुलिस को सौंपने की मांग की। मेघालय में असम के वाहनों पर हुए हमलों के बाद असम पुलिस ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए वाहन मालिकों से पड़ोसी राज्य मेघालय में जाने से रोका है।

Ex DCP ने बताया छोटी कार वालों पर हो रहे हमले

गुवाहाटी पुलिस के पूर्व डीसीपी सुधाकर सिंह ने बताया, ‘हम केवल निजी और छोटी कार वालों को यात्रा करने से रोक रहे हैं क्योंकि वहां मौजूद अराजक तत्व ऐसे वाहनों पर ही हमला कर रहे हैं।’ उन्होंने आगे बताया कि अभी तक इन शरारती तत्वों ने किसी भी कॉमर्शियल वाहनों को नहीं रोका है। अधिकारियों के ने बताया कि असम की एक गाड़ी को मंगलवार की शाम को मेघालय की राजधानी शिलांग में उपद्रवी तत्वों ने आग के हवाले कर दिया।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 24-11-2022 at 09:04:58 pm
अपडेट