ताज़ा खबर
 

कर्नाटक में मंत्री के यहां छापेमारी से भड़की कांग्रेस, संसद में और बाहर सरकार के खिलाफ मोर्चेबंदी

संसद के बाहर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और सुप्रीम कोर्ट में गुजरात से राज्यसभा चुनाव लड़ रहे अहमद पटेल ने मोर्चेबंदी की।

Author नई दिल्ली | Published on: August 3, 2017 2:24 AM
Lok sabha Congress, PM Narendra Modi news, Congress Note ban, Mallikarjun Kharge news, Mallikarjun Kharge latest news, Mallikarjun Kharge hindi Newsलोकसभा में बोलते कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे। (PTI Photo/TV GRAB/ 6 Feb, 2017)

कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार पर आयकर विभाग के छापों की गूंज बुधवार को संसद में सुनाई दी। कांग्रेस के सांसदों ने लोकसभा और राज्यसभा में इस मुद्दे पर जमकर हंगामा किया। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि गुजरात राज्यसभा चुनाव में विधायकों को प्रभावित करने के लिए छापेमारी की गई है। विधायकों को डराया-धमकाया जा रहा है। संसद के बाहर भी इस कार्रवाई को लेकर कांग्रेस ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला किया। कांग्रेस ने पूछा कि आयकर विभाग भाजपा के उन नेताओं पर क्यों नहीं छापे मारती, जिन्होंने 15 करोड़ रुपए देने की बात कही। संसद के भीतर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खरगे, गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा ने मोर्चा संभाला। संसद के बाहर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और सुप्रीम कोर्ट में गुजरात से राज्यसभा चुनाव लड़ रहे अहमद पटेल ने मोर्चेबंदी की। आयकर विभाग ने मंत्री के जिन ठिकानों पर छापे मारे हैं, उसमें बंगलुरू का वह रिसॉर्ट भी शामिल है जहां गुजरात के 44 कांग्रेसी विधायकों को रखा गया है। केंद्र सरकार ने कैफियत दी है कि रिसॉर्ट में छापा नहीं मारा गया। सिर्फ मंत्री के ठिकानों पर आयकर विभाग ने कार्रवाई की। सरकार की ओर से वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इन तलाशियों का गुजरात राज्यसभा चुनाव या विधायकों से कोई लेना-देना नहीं है। यह आर्थिक अपराध से संबंधित कार्रवाई है। वित्त मंत्री के अनुसार जब मंत्री को आयकर विभाग के छापे का पता चला तो वह उस रिसार्ट में चले गए। आयकर विभाग के अधिकारी उनका बयान लेने रिसॉर्ट पर गए तो वहां कागजात फाड़े जा रहे थे। अधिकारियों ने फटे हुए कागजों को भी पंचनामे में शामिल किया है।

हंगामे के दौरान सदन में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी उपस्थित थीं। बाद में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी पहुंचे। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने शून्यकाल में आरोप लगाया कि सरकार राजनीतिक फायदे के लिए केंद्रीय एजंसियों का दुरुपयोग कर रही है। गुजरात से राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार को जीतने से रोकने के लिए सरकार गुजरात के कांग्रेस विधायकों को डराने, धमकाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा, भाजपा की ओर से प्रतिशोध की राजनीति ऐसे ही चलती रही तो लोकतंत्र में कोई राजनीतिक पार्टी नहीं  बचेगी। खरगे ने सत्तारूढ़ पार्टी के लिए कहा कि ऐसे डराओ, धमकाओ मत। नहीं तो आपको भी ऐसा ही भुगतना होगा। वित्त मंत्री के जवाब पर असंतोष जताते हुए कांग्रेस के सदस्य आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे।  उधर, राज्यसभा में हंगामा कर रहे सांसदों ने वेल में आकर उप सभापति पीजे कुरियन के सामने जमकर नारेबाजी की। वे ‘लोकतंत्र की हत्या बंद करो’ और ‘सरकारी तानाशाही नहीं चलेगी’ जैसे नारे लगा रहे थे। कार्यवाही शुरू होते ही वरिष्ठ कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा ने यह मामला उठाया। उन्होंने आरोप लगाया कि आयकर, सीबीआइ और प्रवर्तन निदेशालय जैसी केंद्रीय एजंसियां का इस्तेमाल करके विपक्ष को डराने की कोशिश की जा रही है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने भी केंद्र सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि राज्यसभा के चुनाव फ्री, फेयर और भयमुक्त होने चाहिए। हालांकि ये तीनों चीजें नहीं हो रहीं। आजाद ने कहा गुजरात में विधायकों को अगवा करने की कोशिश की गई। अब यह खौफ दक्षिण तक विधायकों का पीछा कर रहा है। आजाद ने कहा कि आयकर विभाग को भाजपा के उन नेताओं के घरों पर छापे मारने चाहिए, जिन्होंने हमारे विधायकों को 15 करोड़ रुपये देने की बात कही।

कांग्रेस ने आयकर छापों को लेकर संसद के बाहर भी सरकार पर हमला किया। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि गुजरात में राज्यसभा सीट जीतने के लिए भाजपा हर घटिया हथकंडा अपना चुकी है। गुजरात में विधायकों को घूस देने की कोशिश की गई। जब सब कुछ नाकाम हो गया तो हताश भाजपा सरकार अब कांग्रेस के नेता पर आयकर के छापे डलवा रही है। वहीं राज्यसभा चुनाव लड़ रहे वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने ट्विटर पर लिखा- महज एक राज्यसभा सीट जीतने के लिए भाजपा अभूतपूर्व तरीके से पीछे पड़ी हुई है। राज्य की मशीनरी और बाकी सभी एजंसियों का इस्तेमाल करने के बाद अब आयकर के छापे उनकी हताशा को दर्शाते हैं।

 

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डोकलाम में भारत ने नहीं कम किए सैनिक, चीन सीमा पर बंकर बनाने का काम शुरू
2 गाय के गोबर से बन सकते हैं बंकर, मांस जहर के सामान: इंद्रेश कुमार
3 पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा ना दिला पाने पर बीजेपी ने कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार, छेड़ेगी आंदोलन
ये पढ़ा क्या?
X