ताज़ा खबर
 

योगी की नई योजना: खेत में काम करने के दौरान हुई मौत तो मिलेगा 5 लाख का मुआवजा, महंगा हुआ शराब बिक्री का लाइसेंस

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना का लाभ सिर्फ खातेदार किसान और सह-खातेदार को ही मिलता था। नई योजना में किसान और उसकी पत्नी, पुत्र-पुत्री, पौत्र व पौत्री के साथ ही बटाईदार भी पात्र होगा। बीमित किसान की मृत्यु पर पांच लाख रुपए, जबकि दिव्यांगता पर बीमा राशि को श्रेणीवार रखा गया है।

Author लखनऊ | Updated: January 22, 2020 11:07 AM
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश के किसानों को मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के तहत दुर्घटना में मौत होने या दिव्यांगता होने पर सरकार द्वारा उनके परिवार को सहायता दी जाएगी। मंत्रिमंडल की बैठक में मंगलवार (21 जनवरी) को यह निर्णय हुआ। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना का नाम मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना करने के साथ ही इसके नियम और सुविधाओं में बदलाव किया गया है। इसे मंगलवार को मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी। इस योजना के दायरे में प्रदेश के दो करोड़ 38 लाख 22 हजार किसान आएंगे। खास बात ये है कि बीमे के वारिस के रूप में किसान के परिवार के अलावा बटाईदार भी हकदार होगा।

बटाईदार भी बीमा के पात्र होगें: मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना का लाभ सिर्फ खातेदार किसान और सह-खातेदार को ही मिलता था। नई योजना में किसान और उसकी पत्नी, पुत्र-पुत्री, पौत्र व पौत्री के साथ ही बटाईदार भी पात्र होगा। बीमित किसान की मृत्यु पर पांच लाख रुपए, जबकि दिव्यांगता पर बीमा राशि को श्रेणीवार रखा गया है। इसमें 60 फीसद से अधिक दिव्यांगता पर अधिकतम दो लाख रुपए मिलेंगे। सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि 18 से 70 वर्ष तक की उम्र के किसान पात्र होंगे। योजना का लाभ 14 सितंबर 2019 से मिलेगा।

Hindi News Live Hindi Samachar 22 January 2020: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

इन्हें मिलेगा बीमा का लाभ: खेत में काम करने के दौरान किसान या उसके परिवार के किसी सदस्य की दुर्घटना के दौरान मृत्यु होने पर पांच लाख रुपये और 60 फीसदी से अधिक दिव्यांग होने पर दो लाख रुपए की राशि दी जाएगी। इसमें 18 से 70 साल तक के किसान और उसके परिवार के लोग शामिल होंगे। यह योजना 14 सितंबर 2019 से लागू होगी। प्रदेश में इसके लाभार्थियों की संख्या करीब दो करोड, 38 लाख 22 हजार होगा। इसमें बटाई पर काम करने वाले किसान भी शामिल होंगे। अमूमन देखा गया है कि किसान की मृत्यु के पश्चात उसके वारिस खेत का ट्रांसफर अपने नाम पर नहीं कराते हैं। ऐसी स्थिति में किसान के परिजन (पत्नी, बेटा और बेटी) इससे लाभान्वित होंगे।

नई आबकारी नीति की घोषणा: मंत्रिमंडल की बैठक में 13 फैसले हुए। इसमें वर्ष 2020-21 के लिए नई आबकारी नीति की भी घोषणा की गई। इसके तहत नए लाइसेंस शुल्क देशी शराब के लिये 10 फीसदी, विदेशी शराब के लिये 20 फीसदी और बीयर के लिये 15 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। उन्होंने बताया कि मथुरा में गोवर्धन परिक्रमा मार्ग की चारों ओर 10 मीटर चौड़ाई की सर्विस रोड का निर्माण किए जाने के संबंध में प्रस्ताव पास हुआ है। इसके लिए 177 करोड़ का धन स्वीकृत किया गया है। यह काम 19 महीने में पूरा होगा।

”हलका” फिल्म को टैक्स फ्री किए जाने का प्रस्ताव भी पास किया गया: उत्तर प्रदेश औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति 2017 के क्रियान्वयन संबंधी नियमावली के अंतर्गत प्रदेश में मेगा परियोजनाओं की स्थापना को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से दी जाने वाली विशेष सुविधाओं एवं रियायतों के संबंध में प्रस्ताव पास किया गया है। मंत्रिमंडल की बैठक में प्रदेश में पुलिस और विधि विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु उत्तर प्रदेश पुलिस और विधि विज्ञान विश्वविद्यालय अध्यादेश 2020 के प्रख्यापन के संबंध में प्रस्ताव पास किया गया है। प्रवक्ता ने बताया कि स्वच्छता अभियान के तहत बनी ”हलका” फिल्म को टैक्स फ्री किए जाने का प्रस्ताव भी पास किया गया है ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 CAA विवाद: NDA से बाहर होकर दिखाए अकाली दल, CM अमरिंदर के बयान पर बोले सुखबीर बादल- ना करें गांधी परिवार की ‘चापलूसी’
2 CAA: अगले 10 दिन में देश में 5,000 और शाहीन बाग होंगे- चंद्रशेखर आजाद
3 BJP से बोले ओवैसी- याद रखना हलवा नहीं, लाल मिर्ची हूं मैं; नाम बदलने पर यूं ली चुटकी
ये पढ़ा क्या?
X