ताज़ा खबर
 

COVID-19 टेस्टिंग में नीचे से दूसरे नंबर पर है UP? दावा कर बोले पूर्व IAS अफसर- योगी आदित्यनाथ की ‘नो टेस्ट, नो कोरोना’ पॉलिसी की कीमत पूरा सूबा चुकाएगा

रिटायर्ड IAS अफसर ने इसके साथ एक फोटो शेयर किया था, जिसमें ग्राफ के जरिए बताया गया था कि ज्यादा जनसंख्या वाले राज्यों में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर टेस्ट के मामले में कौन से सूबे का हाल क्या है?

Coronavirus, Covid-19COVID-19 टेस्ट के दौरान एक मरीज का स्वैब सैंपल लेते हुए स्वास्थ्यकर्मी। (फोटोः पीटीआई)

कोरोना की टेस्टिंग के मामले में उत्तर प्रदेश का हाल बेहद खराब है। यह दावा मंगलवार को पूर्व IAS अफसर सूर्य प्रताप सिंह ने किया। उन्होंने आंकड़ों के आधार पर कहा कि प्रति 10 लाख जनसंख्या पर (अधिक आबादी वाले सूबों में) कोरोना टेस्टिंग में यूपी नीचे से दूसरे नंबर पर है। ट्वीट में उन्होंने लिखा, “बेहद शर्मनाक! आबादी में सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश कोरोना जांचों की संख्या के मामले में आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, यहां तक कि पश्चिम बंगाल तक से बहुत पीछे है। योगी जी की ‘नो टेस्ट-नो कोरोना’ पॉलिसी की कीमत पूरा प्रदेश चुकाएगा। आप सभी सुरक्षित और सतर्क रहें, आपकी सुरक्षा आपके हाथ।”

रिटायर्ड IAS अफसर ने इसके साथ एक फोटो शेयर किया था, जिसमें ग्राफ के जरिए बताया गया था कि ज्यादा जनसंख्या वाले राज्यों में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर टेस्ट के मामले में कौन से सूबे का हाल क्या है? फोटो में दिए गए डेटा के मुताबिक, यूपी मौजूद समय में इस मामले में नीचे से दूसरे नंबर पर आता है। यूपी में प्रति 10 लाख आबादी पर 4929 टेस्ट होते हैं। बताया गया कि सभी राज्यों की बात करें तो प्रति 10 लाख जनसंख्या पर टेस्ट कराने के मामले में यूपी का 24वां स्थान है।

इन आंकड़ों के अनुसार, सबसे फिसड्डी बिहार है, जहां प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 2670 कोरोना जांच होती हैं। वहीं, सबसे ज्यादा टेस्ट आंध्र प्रदेश में होते हैं। वहां प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 22464 टेस्ट्स होते हैं। दूसरे नंबर पर सर्वाधिक टेस्ट तमिलनाडु में होते हैं, जिसके बाद तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर क्रमशः राजस्थान, कर्नाटक और महाराष्ट्र में जांचें होती हैं।

ये आंकड़े उन्होंने कहां से लिए हैं? फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है। पर सिंह ने इससे पहले जून में भी यूपी सरकार पर ‘नो टेस्ट, नो कोरोना’ का आरोप लगाया था, जिसे लेकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी। यह रहा उनका पुराना ट्वीटः

थोड़ा और जानिए सूर्य प्रताप सिंह कोः सिंह, 1982 बैच के IAS अफसर रहे हैं। साल 2015 में वह रिटायर हुए। मूलतः वह यूपी के बुलंदशहर के हैं। मौजूदा समय में वह लखनऊ में रहते हैं। वह एमबीए और पीएचडी होल्डर हैं। साथ ही पूर्व आईएफएस अफसर और पूर्व आईपीएस अधिकारी हैं।

क्या है UP में कोरोना की ताजा स्थिति?: उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 संक्रमित 28 और लोगों की मौत के साथ इस वायरस से मरने वालों की संख्या 983 हो गई। राज्य में इस दौरान संक्रमण के 1656 नये मामले सामने आये। अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने मंगलवार को बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में कोविड-19 संक्रमित 28 और लोगों की मौत के साथ मृतकों की संख्या बढकर 983 हो गयी है।

‘किसी भी सूरत में जांच में कमी न आए’: अवस्थी ने बताया कि 24, 981 लोग पूर्णतया ठीक होकर अपने घरों को जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्टिंग के माध्यम से सोमवार को पांच-पांच पूल के 2447 पूल लगाये गये, जिनमें से 366 पूल संक्रमित पाये गये। दस-दस नमूनों के 382 पूल लगाये गये और इनमें से 71 पूल संक्रमित निकले। अवस्थी ने कहा, ”इस बात पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है कि किसी भी सूरत में जांच के कार्य में कोई कमी ना आये।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘जब गधा चौकीदारी करेगा, तब घोड़े तो अस्तबल छोड़ेंगे’, पायलट की छुट्टी पर शो में बोले BJP नेता, देखें कांग्रेसी नेता ने क्या दिया जवाब
2 भारत में COVID-19 के 86% केस 10 सूबों में, 50 प्रतिशत मामले सिर्फ महाराष्ट्र और तमिलनाडु से- स्वास्थ्य मंत्रालय
3 राजस्थानः सचिन पायलट के पास कुछ नहीं, वे महज BJP के हाथ में खेल रहे- डिप्टी CM के खिलाफ ऐक्शन पर बोले CM अशोक गहलोत
ये पढ़ा क्या?
X