ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: कानपुर के 122 चमड़ा कारखानों पर फिर सख्ती, बंद करने का आदेश

स्मॉल टेनरिज असोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा, "हमें यूपीपीसीबी और राज्य सरकार द्वारा परेशान किया जा रहा है। जब टेनरिज 8 महीने से बंद पड़ी थीं, तब उस दौरान राज्य सरकार को 'ट्रंक सीवर' का काम पूरा कराना चाहिए था।"

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्म रूप में किया गया है। (फाइल फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (UPPCB) ने दो महीने पहले ही कानपुर में चमड़ा कारखानों को खोलने की अनुमति दी थी, लेकिन बोर्ड ने अब 122 चमड़ा कारखानों (टेनरीज) को फिर से बंद करने के लिए नए सिरे से निर्देश जारी किया है। यह कदम तब उठाया गया, जब कॉमन एफ्लुएंट ट्रीटमेंट प्लांट (CETP) को चमड़ा कारखानों के अपशिष्ठ पदार्थ को फिल्टर करने के लिए घरेलू डिस्चार्ज नहीं मिल रहे थे। CETP का संचालन करने वाले यूपी जल निगम ने वर्तमान में ट्रंक सीवर के काम में जुटा है और यह सीईटीपी के लिए घरेलू डिस्चार्ज देता है।

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के साथ बातचीत में यूपी जल निगम के अधिकारी ने कहा कि परियोजना को पूरा करने के लिए उन्हें लगभग एक महीने का और समय चाहिए। यूपीपीसीबी के मेंबर-सेंक्रेटरी आशीष तिवारी ने कहा, “UPPCB ने कानपुर में टेनरियों के कामकाज को बंद करने के निर्देश जारी किए हैं, क्योंकि CEPT का सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (STP) (जो चमड़े वाले कारखानों के रासायनिक अपशिष्ट को कम करताहै) काम नहीं कर रहा था। तिवारी ने कहा कि सीईपीटी शुरू होने तक चमड़े के कारखाने बंद रहेंगे।

उधर, कानपुर में इस उद्योग से जुड़े मालिकों ने आरोप लगाया कि सरकार “जानबूझकर उन्हें परेशान कर रही है।”
इस साल अगस्त में यूपीपीसीबी ने कानपुर में टेनरियों को इस शर्त पर फिर से खोलने की अनुमति दी कि वे उत्पादन को रोक दें और प्रदूषण विरोधी मानदंडों के अनुपालन में अपने बुनियादी ढांचे को संशोधित करें। यह निर्णय कानपुर जिला प्रशासन द्वारा निरीक्षण के आधार पर लिया गया था। गौरतलब है कि कानपुर में 402 टेनरियां हैं।

इससे पहले कुंभ मेले को देखते हुए राज्य सरकार ने गंगा नदी में कथित अपशिष्ट पदार्थों के कारण नवंबर में 261 टेनरियों का संचालन बंद करा दिया था। स्मॉल टेनरिज असोसिएशन के अध्यक्ष बाबू भाई कहते हैं, “हमें यूपीपीसीबी और राज्य सरकार द्वारा परेशान किया जा रहा है। जब टेनरिज 8 महीने से बंद पड़ी थीं, तब उस दौरान राज्य सरकार को ‘ट्रंक सीवर’ का काम पूरा कराना चाहिए था।” स्मॉल टेनरीज असोसिएशन के कार्यकारी सदस्य डॉक्टर फिरोज आलम ने कहा, ” हमें कल के अगले आदेश तक टैनरिज बंद करने के लिए यूपीपीसीबी से नोटिस मिला है। टेनरियों के नियमित रूप से बंद होने के कारण हमें भारी नुकसान हो रहा है।”

इस दौरान कानपुर में तैनात एक यूपीपीसीबी अधिकारी ने कहा, “यूपीपीसीबी ने कानपुर के जाजमऊ क्षेत्र में स्थित 122 टेनरियों को बंद करने का नोटिस जारी किया है। ये टेनरियां चालू थीं।”

Next Stories
1 Indian Railway, IRCTC: Vande Bharat Express की वजह से लेट हो जाएंगी कई ट्रेनें, देखें लिस्ट
2 मां लिफ्ट मांगकर चंगुल में फंसाती, बेटी बनाती शारीरिक संबंध, फिर शुरू होती थी ब्लैकमेलिंग! हनी ट्रैप गिरोह का हुआ भंडाफोड़
3 Kerala Karunya Lottery KR-416 Results: 1 करोड़ रुपए तक का इनाम घोषित, देखें पूरी लिस्ट
ये पढ़ा क्या?
X