AIMIM के पोस्टर में अयोध्या को बताया गया फैजाबाद, आपत्ति जता बोले संत- सही जिक्र न किया तो ओवैसी की सभा न होने देंगे

हनुमान गढ़ी मंदिर के महंत राजू दास ने मीडिया से कहा, ‘‘अयोध्या (जिले) को फैजाबाद नाम से नहीं पुकारना चाहिए। जिले का नया नाम अयोध्या सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज है।’’

Ayodhya City, UP, India News
उत्तर प्रदेश के पवित्र तीर्थ नगरों में अयोध्या भी गिना जाता है। वहां राम की पैड़ी के पास का नजारा। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः विशाल श्रीवास्तव)

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के अयोध्या जिले के दौरे से पहले संतों ने जिले में लगाए गए पार्टी के पोस्टरों में जनपद के पूर्व नाम फैजाबाद का इस्तेमाल किए जाने पर आपत्ति जताई है और इसे हिंदुत्व विरोधी कदम बताया है।

संतों ने चेतावनी दी है कि अगर पोस्टरों में अयोध्या का जिक्र नहीं किया गया तो जिले में ओवैसी की जनसभा नहीं होने दी जाएगी। ओवैसी सात सितंबर को अयोध्या जिले के रुदौली में सूफी संत शेख आलम मखदूम जदा की दरगाह पर जाएंगे और वहां एक जनसभा करेंगे।

हनुमान गढ़ी मंदिर के महंत राजू दास ने मीडिया से कहा, ‘‘अयोध्या (जिले) को फैजाबाद नाम से नहीं पुकारना चाहिए। जिले का नया नाम अयोध्या सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज है।’’

तपस्वी मंदिर के महंत परमहंस दास ने इसे ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) का ‘‘हिंदुत्व विरोधी’’ कदम बताया। उन्होंने कहा कि अगर फैजाबाद नाम वाले पोस्टर नहीं हटाए गए तो पार्टी को जिले में जनसभा नहीं करने दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश सरकार ने नवंबर 2018 में फैजाबाद मंडल का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया था। संतों की आपत्तियों पर एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष शाहनवाज सिद्दीकी ने कहा कि जिले को पहले फैजाबाद कहा जाता था और लोगों को बदलाव की आदत पड़ने में समय लगेगा।

सिद्दीकी ने कहा, ‘‘पोस्टर में दोनों नामों का उल्लेख है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम क्या नाम लिखते हैं, यह मुद्दा बनाने का विषय नहीं है।’’

जयपुर पहुंचे AIMIM चीफः एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी शनिवार को निजी दौरे पर जयपुर पहुंचे। सूत्रों के अनुसार, हैदराबाद से लोकसभा सदस्य अपनी पार्टी के नेताओं के साथ जयपुर आए थे। पार्टी के नेता अजमेर दरगाह गए तो ओवैसी कुछ घंटों के लिए जयपुर ही रुके रहे। शाम को ये सब हैदराबाद लौट गए। सूत्रों के अनुसार, ओवैसी राजस्थान में राजनीतिक जमीन तलाश रहे हैं।

अयोध्या में नए स्टेशन के निर्माण कार्य का निरीक्षणः रेलवे पर संसद की स्थायी समिति के कुछ सदस्यों ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के अयोध्या में एक नए रेलवे स्टेशन के निर्माण कार्य का जायजा लिया। समिति के अध्यक्ष राधा मोहन सिंह के नेतृत्व में सांसदों ने रेलवे अधिकारियों के साथ बैठक की और नए स्टेशन से जुड़े विभिन्न मामलों पर चर्चा की। मंडल रेल प्रबंधक एस के सपरा ने समिति के सदस्यों को बताया कि पहले चरण का 70 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और इस साल 31 दिसंबर तक स्टेशन बनकर तैयार हो जाएगा। अयोध्या में बन रहे राम मंदिर की तर्ज पर तैयार हो रहे नए रेलवे स्टेशन में 10 प्लेटफॉर्म होंगे। इस स्टेशन पर यात्रियों के लिए अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट