ताज़ा खबर
 

सपा विधायक नाहिद हसन पर केस दर्ज, गाड़ी के पेपर मांगने पर SDM और सीओ से की थी गाली-गलौज

घटना के वायरल वीडियो की जांच और पूछताछ के बाद पुलिस ने सपा विधायक नाहिद हसन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

सपा विधायक नाहिद हसन एसडीएम से बहस करते हुए।

उत्तर प्रदेश के कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। बता दें कि हाल ही में नाहिद हसन एसडीएम और सीओ के साथ उलझ गए थे। इस घटना का वीडिया भी सामने आया था। जिसके बाद घटना की जांच की गई और अब जांच के बाद सपा विधायक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

क्या था मामलाः बता दें कि घटना बीते सोमवार की है, जब कैराना एसडीएम अमितपाल और सीओ राजेश तिवारी कैराना की झिंझाना रोड पर जा रहे थे। इसी दौरान उन्हें वहां संदिग्ध नंबर की एक कार दिखाई दी। कैराना विधायक नाहिद हसन गाड़ी के पास खड़े हुए थे। इस पर एसडीएम और सीओ ने गाड़ी के कागजात मांगे, जिस पर सपा विधायक भड़क गए और फिर विधायक नाहिद हसन और एसडीएम अमितपाल के बीच तीखी बहस हो गई। विधायक नाहिद हसन ने एसडीएम पर बदतमीजी करने का आरोप लगाया। घटना की वायरल वीडियो में सपा विधायक गाली-गलौज करते सुने गए थे।

इसके बाद मंगलवार को सपा विधायक की मां और पूर्व सांसद तबस्सुम हसन ने एसपी अजय कुमार से मुलाकात कर गाड़ी के कागजात सौंपे। तबस्सुम हसन ने आरोप लगाया कि विधायक के प्रोटोकॉल का ध्यान नहीं रखा गया। वहीं इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद घटना की जांच एसपी शामली कर रहे थे। अब इस मामले में ही सपा विधायक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

बता दें कि सपा विधायक नाहिद हसन इससे पहले भी विवादों में घिर चुके हैं। नाहिद हसन का बीते दिनों के और वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह अपने समर्थकों से कह रहे थे कि वह भाजपा समर्थक दुकानदारों से सामान लेना बंद कर दें। नाहिद हसन के इस बयान पर काफी विवाद हुआ था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस को ‘प्रेरक’ शब्द से आपत्ति, RSS के ‘प्रचारक’ से तुलना के बाद सोनिया ने एजेंडे से हटाया
2 अनुच्छेद 370 के प्रावधान खत्म करने के बाद जम्मू-कश्मीर में एक महीने में 4000 लोगों को पकड़ा, पहली बार इतनी सख्ती!
3 कश्मीर में पाबंदी हटाने को भारत पर दबाव दे अमेरिका- सांसदों की अमेरिकी विदेश मंत्री को चिट्ठी