यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में भाजपा ने गाड़ा झंडा, 65 सीटों पर जीत, सपा को सिर्फ 6

यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में भाजपा को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पार्टी ने 65 सीटों पर जीत हासिल की है।

bjp, madhya pradesh
तस्वीर का इस्तेमाल प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)।

यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में भाजपा को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पार्टी ने 65 सीटों पर जीत हासिल की है। इस बीच खबर है कि समाजवादी पार्टी इन चुनाव में सिर्फ 6 सीटों पर सिमटी रह गई है । चुनाव नतीजों में जहां अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका लगा है वहीं भाजपा को भारी जीत मिली है। पिछली बार इन्हीं चुनाव में सपा ने 75 में से 60 सीटों पर कब्जा कर लिया था। हालांकि, चुनावों का विश्लेषण करने वालों का कहना है कि स्थानीय निकाय चुनाव इस बात का कोई इशारा नहीं हैं कि अगले साल विधानसभा चुनाव में हवा किस दिशा में चलेगी, जो भाजपा के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए एक अंतिम परीक्षा के रूप में भी काम करेगा। इसके बावजूद स्थानीय निकाय चुनाव पर पैनी नजर रखी जा रही है।

प्रयागराज, पूर्व में इलाहाबाद में स्थानीय निकाय चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए आज सड़क पर प्रदर्शन करने वाले समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। यूपी बीजेपी प्रमुख स्वतंत्र देव सिंह ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “भाजपा ने 75 जिला पंचायत अध्यक्ष सीटों में से 67 पर जीत हासिल की है। हम 2022 विधानसभा चुनाव भी जीतेंगे।” इससे पहले भाजपा के इक्कीस और समाजवादी पार्टी के एक उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हुए थे। उत्तर प्रदेश में लगभग 3,000 जिला पंचायत सदस्य हैं। यह चुनाव राज्य के 75 जिलों के लिए अध्यक्षों का चयन करेगा।

यूपी में स्थानीय निकाय चुनाव में नेताओं का निर्विरोध निर्वाचित होना कोई नई बात नहीं है। 2016 में, जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में समाजवादी पार्टी ने जीती 60 सीटों में से आधी निर्विरोध चुनी गईं। अखिलेश यादव तब मुख्यमंत्री थे। एक साल बाद विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने राज्य में जीत हासिल की थी।

राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने मंगलवार को बताया था कि प्रदेश के 22 जिलों सहारनपुर, बहराइच, इटावा, चित्रकूट, आगरा, गौतम बुद्ध नगर, मेरठ, गाजियाबाद, बुलंदशहर, अमरोहा, मुरादाबाद, ललितपुर, झांसी, बांदा, श्रावस्ती, बलरामपुर, गोंडा, गोरखपुर, मऊ, वाराणसी, पीलीभीत और शाहजहांपुर में जिला पंचायत के अध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ है। इटावा को छोड़कर 21 निर्वाचित अध्यक्ष सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हैं। इटावा में समाजवादी पार्टी को जीत मिली है।

आज संतकबीर नगर, बलिया, आजमगढ़ और एटा में सपा ने जीत दर्ज की है। जबकि बागपत में राष्ट्रीय लोकदल की प्रत्याशी ने भाजपा प्रत्याशी को हरा दिया है।

अपडेट