ताज़ा खबर
 

योगी आदित्य नाथ के दौरे से पहले मुसहरों को दिया गया साबुन, शैंपू और सेंट, अफसरों ने कहा- तैयार होकर सीएम से मिलना

मुसहर बस्ती के एक ग्रामीण ने मीडिया को बताया कि सीएम योगी आदित्य नाथ के दौरे से कुछ दिन पहले प्रशासन ने गांव में नए शौचालय और पिच रोड बनवाए और बिजली के बल्ब लगवाए।

yogi adityanath, mushar basti, cm yogi25 मई को कुशीनगर की मुसहर बस्ती में जापानी इंसेफलाइटिस के टीकाकरण अभियान की शुरुआत करते सीएम योगी आदित्यनाथ। (पीटीआई फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को गद्दी संभाले दो महीने हुए हैं लेकिन शायद ही ऐसा कोई हफ्त बीता हो जब उनसे जुड़ा कोई विवाद न हुआ हो। ताजा मामला गुरुवार (25 मई) का है। सीएम योगी कुशीनगर जिले की मुसहर बस्ती के दौरे का है। डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक जिला प्रशासन ने सीएम योगी के दौर के मद्देनजर मुसहर समुदायों के लोगों को सीएम से मुलाकात के लिए साबुन-शैम्पू से नहाने और सेंट (इत्र) लगाने की सलाह दी दी थी। इससे पहले सीएम योगी तब विवादों से घिर गए थे जब सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के शहीद जवान के घर पर सीएम के दौरे से पहले देवरिया जिला प्रशासन ने शहीद के घर में सोफा, एसी और कारपेट लगवाया था और उनके जाते ही सारा साजोसामान हटवा लिया था।

योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कुशीनगर की मुसहर बस्ती में पांच बच्चों को टीका लगाकर इंसेफलाइटिस टीकाकरण अभियान की शुरुआत की थी। सीएम आदित्य नाथ के दौरे की तैयारी जिला प्रशासन ने कुछ दिन पहले ही शुरू कर दी थी। रिपोर्ट के अनुसार जब जिला प्रशासन के अधिकारी कुशीनगर के मैनपुर कोट गांव की मुसहर बस्ती लाव-लश्कर के साथ पहुंचे तो गांवाले हैरान रह गए। मुसहर बस्ती के एक ग्रामीण ने डेक्कन हेराल्ड को बताया कि सीएम योगी आदित्य नाथ के दौरे के कुछ दिन पहले ही प्रशासन ने नए शौचालय और  पिच रोड बनवाई और बिजली के बल्ब लगवाए।

मुसहर समुदाय के एक बुजर्ग ने डेक्कन हेराल्ड को बताया कि अधिकारियों ने उन्हें खुशबुदार साबुन, शैंपू और सेंट भी दिया और कहा कि मुख्यमंत्री से मिलने से पहले इनसे नहा लेना और सेंट लगा लेना। अधिकारियों ने गांववालों से अपने घरों और चबूतरों को साफ रखने के लिए भी कहा। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने एशियन एज के पड़ताल पर ऐसी किसी घटना की जानकारी होने से इनकार किया।

मई के दूसरे हफ्ते में सीएम योगी आदित्यनाथ बीएसएफ के शहीद जवान प्रेम सागर के घर गए थे। प्रेम सागर उन दो सैनिकों में एक थे जिनका कश्मीर स्थित सीमा पर पाकिस्तानी सेना ने हत्या करके शव को क्षत-विक्षत कर दिया था। शहीद प्रेम सागर के गांव में भी अधिकारियों ने सीएम  आदित्य नाथ के दौरे से पहले पिच रोड बनवाई थी।

Next Stories
1 असम के तिनसुकिया में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- “वाजपेयी जी की सरकार होती तो 10 साल पहले बन जाता पुल”
2 मोदी सरकार के 3 साल पूरे होने पर कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- सिर्फ भाषण और आश्वासन का शासन
3 असम: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन, पुल को दिया भूपेन हजारिका का नाम
आज का राशिफल
X