यूपी में रहस्यमय बुखार से परेशान लोग, CMO के पैरों में गिर पड़ा बुजुर्ग, रोकर बताई बेबसी

इस रहस्यमयी बुखार से फिरोजाबाद जिले में अबतक 50 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। इस बुखार के चलते प्रदेश के लोग डरे हुए हैं और प्रशासन से मदद की गुहार लगा रहे हैं।

UP viral fever, viral fever, viral fever death, viral fever agra, viral fever firozabad, dengue death, UP news, indian express news,
उत्तर प्रदेश में रहस्यमयी बुखार का कहर है। (express file)

कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश में रहस्यमयी बुखार के कई मामले सामने आ रहे हैं। इस बुखार ने पूरे प्रदेश में कहर मचा रखा है। राजधानी लखनऊ के अलग-अलग सरकारी अस्पतालों में 40 बच्चों सहित 400 से ज्यादा मरीजों को इस बुखार के चलते भर्ती कराया गया है।

इस रहस्यमयी बुखार से फिरोजाबाद जिले में अबतक 50 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। इस बुखार के चलते प्रदेश के लोग डरे हुए हैं और प्रशासन से मदद की गुहार लगा रहे हैं। ‘न्यूज़ 24’ का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इसमें एक बुजुर्ग स्थानीय सीएमओ के पैरों में गिरकर अपनी तकलीफ के बारे में बता रहा है। वीडियो में एक शख्स सीएमओ को बता रहा है कि बुजुर्ग गांव के मुखिया हैं।

बुजुर्ग बता रहा है कि उसके भी परिवार के बच्चे बीमार हैं और अस्पताल में भर्ती हैं। इसपर सीएमओ ने उन्हें मदद का भरोसा दिलाया। सीएमओ ने कहा कि आपके बच्चे जहां-जहां भी भर्ती हैं उसकी एक लिस्ट बनाकर दीजिए। 


इसपर बुजुर्ग सीएमओ के पैर पड़ने लगा। तो सीएमओ ने कहा, “ऐसा मत करिए बाबा मैं आपकी मदद के लिए ही आई हूं।” बता दें मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक फिरोजाबाद, आगरा, मथुरा, मैनपुरी, एटा और कासगंज जिले में पिछले एक हफ्ते से बुखार  के मामले काफी बढ़ गए हैं। 

ग्रामीण क्षेत्रों में वायरल बुखार का प्रकोप तेजी से फैल रहा है। हर घर में कोई न कोई व्यक्ति बुखार से पीड़ित है। गोंडा जिला अस्पताल के फिजीशियन डॉ समीर गुप्ता ने बताया है कि ओपीडी में वायरल बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ी है। वहीं अधिकांश बीमार घरों पर रहकर या झोलाछाप डॉक्टरों के सहारे अपना इलाज करवा रहे हैं।

डॉक्टर समीर गुप्ता का कहना है कि इस बुखार के बारे मे कोई प्रमाणिक जानकारी तो नहीं है लेकिन इस बुखार के वायरल बुखार का प्रकोप 10-12 तक रहता है जबकि आम बुखार 5-6 दिनों में ही ठीक हो जाता है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट