ताज़ा खबर
 

यूपी के मंत्री के विवादित बोल, ‘बिजली की नंगी तार हैं मायावती, जो छुएगा वह मरेगा’

गिरिराज सिंह धर्मेश पेशे से डॉक्टर हैं। धर्मेश 1994 में भाजपा में शामिल हुए थे। उन्होंने साल 2017 में पहली बार चुनाव जीता। इस बार हुए मंत्रिमंडल विस्तार में योगी आदित्यनाथ ने उन्हें अपनी कैबिनेट में जगह दी।

BSP, BSP chief, Mayawati, UP govt, UP CM, CM Yogi, Giriraj Singh Dharmesh, minister giriraj, BJP leader, SP, former CM Mayawati, yogi adityanath, Social Welfare and SC/ST Welfare minister, agra, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiमायावती ने लोकसभा चुनाव के बाद समाजवादी पार्टी से गठबंधन तोड़ लिया था। (फाइल फोटो)

भाजपा के नेताओं का विवादित बयान देने का सिलसिला जारी है। भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा, उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज, केंद्रीय मंत्री रावसाहब दानवे पाटिल के बाद इस कड़ी में अगला नाम यूपी सरकार में हाल ही में मंत्री बनाए गए गिरिराज सिंह धर्मेश का है।

योगी सरकार में समाज कल्याण और एससी/एसटी कल्याण मंत्री बनाए गए पाटिल ने बसपा प्रमुख को लेकर विवादित बयान दिया है। आगरा कैंट से विधायक गिरिराज सिंह धर्मेश ने मायावती की तुलना बिजली की नंगी तार से की। योगी सरकार के मंत्री ने कहा कि मायावती बिजली की नंगी तार हैं, जो भी उन्हें छूएगा वो मर जाएगा। भाजपा नेता ने मायावती को ‘बेईमान’ बताया जो अपने फायदे के लिए दूसरों को धोखा दे सकती हैं।

आगरा में एक अनौपचारिक बातचीत में योगी सरकार के नए मंत्री ने कहा कि मायावती ने लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी का आधार बढ़ाने के लिए समाजवादी पार्टी का प्रयोग किया। उनके सांसदों की संख्या बढ़कर 10 हो गई। इसके बाद उन्होंने समाजवादी पार्टी को धोखा दे दिया।

मंत्री ने कहा कि वह भाजपा के दिवंगत नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी ही थे जिन्होंने गेस्टहाउस घटनाकांड में मायावती की जान बचाई थी। भाजपा ने मायावती को यूपी का तीन बार मुख्यमंत्री बनने में मदद की। धर्मेश ने कहा कि बसपा प्रमुख कांशी राम की मौत रहस्यमय परिस्थितियों में हुई। उन्होंने कहा कि वह इस बारे में सीबीआई जांच की मांग को लेकर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलेंगे।

बता दें कि गिरिराज सिंह धर्मेश पेशे से डॉक्टर हैं। धर्मेश 1994 में भाजपा में शामिल हुए थे। उन्होंने साल 2017 में पहली बार चुनाव जीता। इस बार हुए मंत्रिमंडल विस्तार में योगी आदित्यनाथ ने उन्हें अपनी कैबिनेट में जगह दी। इससे पहले केंद्रीय मंत्री रावसाहब दानवे पाटिल ने कहा था कि भाजपा के पास वाशिंग मशीन है। वह अपनी पार्टी में शामिल होने वाले अन्य नेताओं की पहले उसमें धुलाई करती हैं।

वहीं भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा का कहना था कि विपक्ष उनके नेताओं के खिलाफ ‘मारक शक्ति’ का प्रयोग कर रहा है। इस वजह से पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की एक के बाद एक मौत हो रही है। दूसरी तरफ साक्षी महाराज ने भी तीन दिन पहले फर्रुखाबाद में कहा था कि किसी ने भी अपनी मां का दूध नहीं पिया जो उनका टिकट काट सके।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आम कैदी की तरह जेल में नहीं हैं पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम, टीवी, सोफा, डबल बेड का है इंतजाम
2 वॉकिंग और योग है पीएम नरेंद्र मोदी की फिटनेस का राज, हमेशा गुनगुना पानी पीते हैं प्रधानमंत्री
3 बर्थडे स्पेशल: हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद; जिन्होंने भारत के लिए हिटलर का खास ऑफर ठुकरा दिया
यह पढ़ा क्या?
X