scorecardresearch

हर घर तिरंगा नहीं, भगवा ध्वज फहराया जाए- बोले महामंडलेश्वर नरसिंहानंद

Yeti narasimhanand controversial statement: यति नरसिंहानंद का कहना है कि तिरंगे के नाम पर चल रहे अभियान में तिरंगे बनाने का सबसे बड़ा ऑर्डर बंगाल की एक कंपनी को दिया गया है। जिसका मालिक मुसलमान है।

हर घर तिरंगा नहीं, भगवा ध्वज फहराया जाए- बोले महामंडलेश्वर नरसिंहानंद
यति नरसिंहानंद (सोर्स- पीटीआई)

Yeti narasimhanand: अपने विवादित बयानों की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहने वाले महामण्डलेश्वर यति नरसिंहानंद ने राष्ट्रीय ध्वज को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि घर-घर तिरंगा नहीं भगवा फहराना चाहिए। बता दें कि केंद्र सरकार के हर-घर तिरंगा अभियान के चलते देशभर में लोग अपने घरों पर तिरंगा लगा रहे हैं। ऐसे में नरसिंहानंद ने तिरंगे की जगह भगवा लगाने की बात कही है।

यूपी के गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर और जूना अखाड़े के यति नरसिंहानंद गिरि ने हिंदुओं से अपील की है कि वे हर घर तिरंगा अभियान का बहिष्कार करें। दरअसल नरसिंहानंद ने तिरंगा बनाने वाली कंपनी पर सवाल खड़े किये हैं। उनका कहना है कि तिरंगे के नाम पर चल रहे अभियान में तिरंगे बनाने का सबसे बड़ा ऑर्डर बंगाल की एक कंपनी को दिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस कंपनी का मालिक सलाउद्दीन है। जोकि एक मुसलमान है। ऐसे में सरकार गलत कर रही है। अगर मुस्लिमों को तिरंगे के नाम पर पैसा देंगे तो इन पैसों का इस्तेमाल हिंदुओं के खिलाफ होगा। यति ने कहा कि हिंदू दुनिया के सबसे बड़े पाखंडी हैं। हिंदुओं के दलाल मुसलमानों का आर्थिक बहिष्कार करने की बात करते हैं लेकिन सत्ता में आने के बाद मुसलमानों को सरकारी ठेके देते हैं।

उन्होंने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान हिंदुओं ने खिलाफ साजिश है। अगर हिंदुओं को जिंदा रहना है तो मुस्लिमों को पैसे देने वाले इस अभियान से बचना होगा। इसलिए अगर घर पर तिरंगा लगाना है तो कोई पुराना तिरंगा लगा लो। लेकिन सलाउद्दीन को एक पैसा भी मत दो।

गृह मंत्री अमित शाह ने अपने आवास पर फहराया तिरंगा:

यति नरसिंहानंद द्वारा हर घर तिरंगा अभियान के विरोध के बीच मोदी सरकार के कई केंद्रीय मंत्री इस अभियान में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। 13 अगस्त को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और उनकी पत्नी सोनल शाह ने हर घर तिरंगा अभियान शुरू होने के तहत अपने आवास पर तिरंगा फहराया।

इसके अलावा राजस्थान के जोधपुर में आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में भाजपा की अल्पसंख्यक विंग ने भी तिरंगा यात्रा निकाली। वहीं उत्तराखंड में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के जवानों ने भारत-तिब्बत सीमा पर 14,000 फीट की ऊंचाई पर ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के हिस्से के रूप में तिरंगा फहराया।

पीएम मोदी की अपील:

बीते जुलाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने “हर घर तिरंगा” अभियान शुरुआत की थी। इसमें उन्होंने देशवासियों से अपील की थी कि देश की आजादी के 75 साल पूरे पर देशवासी अपने-अपने घरों पर तिरंगा फहराएं। इसका मकसद लोगों में देशभक्ति की भावना लाने और जनभागीदारी की भावना से आजादी का अमृत महोत्सव मनाना है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट