यूपी चुनावः हम मुस्लिम हैं, वोट हम नहीं देंगे, पर आएंगे योगी ही- जाने क्यों यह दावा ठोंकने लगा युवक

जब पत्रकार ने युवक से सवाल पूछा कि क्या योगी आदित्यनाथ ने अच्छा काम किया है तो इसके जवाब में युवक कहने लगा कि हां उन्होंने अच्छा काम किया है, हम लोगों को गेहूं चावल फ्री में मिलता है। इसके बाद वह फिर से अपनी बात को दोहराते हुए कहने लगा कि हम वोट नहीं देंगे लेकिन योगी ही आएंगे।

एक कार्यक्रम के दौरान जब टीवी पत्रकार ने एक मुस्लिम युवक से सवाल पूछा कि इसबार यूपी में किसकी सरकार बनेगी तो वह जवाब देने के दौरान बार बार अपनी बात दोहराते हुए कहने लगा कि इस बार भी योगी सरकार ही आएगी। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव होने में अभी समय है। लेकिन राजनीतिक पार्टियों ने अभी से ही अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। आगामी उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर जब एक मुस्लिम युवक से सवाल पूछा गया कि अगले चुनाव में किसकी सरकार बनेगी। तो वह दावा ठोकते हुए कहने लगा कि हम मुस्लिम हैं, हम भाजपा को वोट नहीं देंगे लेकिन इसके बावजूद उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ की ही सरकार आएगी।

दरअसल न्यूज 24 के पत्रकार राजीव रंजन आगामी उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनावों को लेकर मतदाताओं का रुझान जानने के लिए लखनऊ के पास के एक कस्बे में लोगों से बातचीत कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने एक मुस्लिम युवक से सवाल पूछा कि चुनाव का माहौल क्या है तो उसने जवाब देते हुए कहा कि यहां चुनाव का माहौल ठीक है और इस बार भी योगी सरकार ही आएगी।

युवक के इस सवाल के जवाब में पत्रकार ने कहा कि लोग तो कह रहे हैं कि योगी के खिलाफ नाराजगी है तो युवक कहने लगा कि हम मुस्लिम हैं, भले ही वोट नहीं देंगे लेकिन आएंगे योगी ही। आगे युवक अपनी बात को दोहराते हुए कहने लगा कि कुछ मुस्लिम योगी आदित्यनाथ को वोट जरूर देते हैं। लेकिन हम वोट नहीं देंगे बल्कि अपना वोट अखिलेश यादव को देंगे। लेकिन इसके बावजूद भी योगी ही आएंगे।

इसके अलावा जब पत्रकार ने उससे सवाल पूछा कि क्या योगी आदित्यनाथ ने अच्छा काम किया है तो इसके जवाब में युवक कहने लगा कि हां उन्होंने अच्छा काम किया है, हम लोगों को गेहूं चावल फ्री में मिलता है। इसके बाद वह फिर से अपनी बात को दोहराते हुए कहने लगा कि हम वोट नहीं देंगे लेकिन योगी ही आएंगे। इस दौरान वह दावा करते हुए यह भी कहने लगा कि कैसे भी आएं लेकिन योगी ही आगामी चुनावों में आएंगे।

बता दें कि रविवार को योगी आदित्यनाथ सरकार ने कैबिनेट का विस्तार किया। कहा जा रहा है कि भाजपा ने आगामी चुनाव को देखते हुए कैबिनेट विस्तार किया है। रविवार को हुए कैबिनेट विस्तार में भाजपा ने सोशल इंजीनियरिंग समीकरण को साधने की पूरी कोशिश की। इसी को ध्यान में रखते हुए ब्राह्मण समुदाय से एक, ओबीसी से तीन, दो एससी और एक एसटी समुदाय से मंत्री बनाया गया।    

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट