यूपी चुनावः बोले डिप्टी CM- असली किसान BJP के संग, आंदोलनकारी SP-Congress वाले; टिकैत ने कहा- अब मिशन देश बचाने का है

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि किसान भारतीय जनता पार्टी के साथ है। सपा, बसपा, कांग्रेस और लोकदल जैसे दलों ने किसानों का रूप धारण कर के यह बताने का प्रयास किया है कि वो किसान हैं।

Farmer, Rakesh Tikait, Uttar Pradesh, BJP, SP
उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और किसान नेता राकेश टिकैत (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

केंद्र के तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के विरोध में रविवार को विभिन्न राज्यों के किसानों ने महापंचायत का आयोजन किया। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले आयोजित इस महापंचायत में लाखों किसानों ने हिस्सा लिया। इधर महापंचायत के आयोजन पर हमला बोलते हुए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि असली किसान BJP के संग हैं। आंदोलनकारी किसान सपा और कांग्रेस वाले हैं। वहीं किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि अब मिशन देश बचाने का है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि किसान भारतीय जनता पार्टी के साथ है। सपा, बसपा, कांग्रेस और लोकदल जैसे दलों ने किसानों का रूप धारण कर के यह बताने का प्रयास किया है कि वो किसान हैं। लेकिन जो राजनीतिक दल हैं उनसे में यही कहूंगा कि अगर उनके अंदर हिम्मत है तो 2022 का विधानसभा चुनाव आने वाला है। वो जनता की अदालत में आए। इधर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि ‘सेल फार इंडिया’ का बोर्ड देश में लग चुका है और जो देश बेच रहे हैं उनकी पहचान करनी पड़ेगी और बड़े-बड़े आंदोलन चलाने पड़ेंगे।

मुजफ्फरनगर के राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में रविवार को संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से आयोजित किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा, “आज संयुक्त किसान मोर्चा ने जो फैसले लिए हैं उसके तहत हमें पूरे देश में बड़ी-बड़ी सभाएं करनी पड़ेंगी। अब यह मिशन केवल उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड का मिशन नहीं, अब यह मिशन संयुक्त मोर्चे का देश बचाने का मिशन होगा। यह देश बचेगा तो यह संविधान बचेगा। लड़ाई उस मुकाम पर आ गई है और जो बेरोजगार हुए हैं यह लड़ाई उनके कंधों पर हैं।” उन्होंने कहा, “हमें फसलों पर एमएसपी की गारंटी चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा था कि 2022 में किसानों की आय दोगुनी होगी और पहली जनवरी से हम दोगुनी रेट पर फसल बेचेंगे। हम जाएंगे देश की जनता के बीच में और पूरे देश में संयुक्त किसान मोर्चा आंदोलन करेगा।”

टिकैत ने कहा, “जिस तरह एक-एक चीज बेची जा रही है, तीनों कृषि कानून उसी का एक हिस्सा हैं।” उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर देश की जनता को धोखा देने का आरोप लगाते हुए कहा, “इनका धोखा नंबर एक है कि यहां पर रेल, हवाई जहाज और हवाई अड्डे बेचे जाएंगे। धोखा नंबर दो- बिजली बेचकर निजीकरण करेंगे, यह कहीं घोषणा पत्र में नहीं लिखा। जब वोट मांगते तो नहीं कहा कि बिजली भी बेचेंगे” उन्होंने आरोप लगाया, “ये सड़क बेचेंगे और पूरी सड़कों पर टैक्स लगेगा और राष्ट्रीय राजमार्ग के पांच सौ मीटर तक कोई चाय की गुमटी भी नहीं लगा सकता। देखना ये क्‍या क्‍या चीज बेच रहे हैं। सेल फार इंडिया का बोर्ड देश में लग चुका है। यह एलआईसी, बड़ी कंपनी, बैंक सब बिक रहे हैं। देश के बंदरगाह बेच दिये गये हैं। ये जल को बेच रहे हैं, निजी कंपनियों को नदियां बेची जा रही हैं। ये कभी भी बोर्ड लगा सकते है कि भारत बिकाऊ है।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट