मायावती की पार्टी से आए योगी सरकार के मंत्री ने भाजपा के कार्यक्रम को बता दिया बसपा का, टोकने पर लगे हंसने

लोगों को संबोधित करते हुए मौर्य ने कहा, “बहुजन समाज पार्टी द्वारा आयोजित कार्यक्रम।” मौर्य के इतना कहते ही मंच पर और नीचे बैठे कार्यकर्ता हंसने लगे। लोगों को हंसता देख उन्होंने आयोजकों की तरफ देखकर इशारे से पूछा, क्या हुआ। जब लोगों ने बताया कि बहुजन समाज पार्टी नहीं भारतीय जनता पार्टी कहिए।

Swami Prasad Maurya s speech slipped, Swami Prasad remembered BSP, Swami Prasad Maurya remembered BSP, when Swami Prasad Maurya remembered BSP,स्वामी प्रसाद मौर्य की फिसली जबान, स्वामी प्रसाद को याद आई बसपा, स्मामी प्रसाद मौर्य को बसपा की याद आई, जब स्वामी प्रसाद मौर्य को आई बसपा की याद,Hindi News, News in Hindi, jansatta
स्‍वामी प्रसाद मौर्य रायबरेली में एक सभा को संबोधित करते हुए एक बड़ी गलती कर बैठे। (express file)

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री स्‍वामी प्रसाद मौर्य रायबरेली में एक सभा को संबोधित करते हुए एक बड़ी गलती कर बैठे। जिसके बाद उनका एक वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है।

दरअसल आगामी चुनावों को लेकर रायबरेली में आयोजित भारतीय जनता पार्टी (BJP) प्रबुद्धजन सम्मेलन में स्वामी प्रसाद मौर्य की जुबान फिसल गई। लोगों को संबोधित करते हुए मौर्य ने कहा,  “बहुजन समाज पार्टी (BSP) द्वारा आयोजित कार्यक्रम।” मौर्य के इतना कहते ही मंच पर और नीचे बैठे कार्यकर्ता हंसने लगे। लोगों को हंसता देख उन्होंने आयोजकों की तरफ देखकर इशारे से पूछा, क्या हुआ। जब लोगों ने बताया कि बहुजन समाज पार्टी नहीं भारतीय जनता पार्टी कहिए।

मौर्य को जब तक अपनी गलती समझ में आती, तब तक देर हो चुकी थी। जुबान फिसलने के बाद मौर्य भी अपनी बात पर हंसते नजर आए। मौर्य का यह वीडियो जमकर वायरल हो रहा है और विपक्ष से लेकर ट्रोल्स तक सब इसको शेयर कर मजे ले रहे हैं।

पवन तिवारी नाम के एक यूजर ने लिखा, “बसपा जुबान पर  चढ़ी है…तो मुंह से निकल गया।” आदित्य तिवारी नाम के यूजर ने लिखा, “योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बात पर गौर से सुनिएगा…. मंत्री जी खुद की हंसी नहीं रोक पाए आप भी शायद नहीं रोक पाएंगे…रायबरेली में बहुजन समाज पार्टी के द्वारा आयोजित।”

सौरभ त्रिपाठी ने लिखा, “खून पसीना तो वहीं दिया है, यहां तो मलाई काटी है।” संतोष शर्मा ने लिखा, “जाने मेरी जानेमन बचपन का प्यार ,भूल नहीं जाना रे। नई मोहब्बत में जब जुबा फिसले तो समझ आए पर जब सालों बाद भी पुराना महबूब जुबां पर आए तो क्या समझा जाए।”

बता दें स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने करीब साढ़े चार साल पहले बहुजन समाज पार्टी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया था। 2017 यूपी विधानसभा चुनाव में बसपा ने जब स्‍वामी प्रसाद मौर्य के परिवार वालों को टिकट देने से इन्कार कर दिया तो नाराज होकर उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी। इसके बाद वह बीजेपी में शामिल हो गए और कुशीनगर के पडरौना सीट से लगातार तीसरी बार विधायक बने।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट