जब योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव को कहा था ‘बच्चा’, बोले थे- भाजपा में आना चाहें तो कहेंगे अभी इंतजार करो

चुनावी मौसम में पार्टी बदलने को लेकर सीएम योगी ने कहा था कि अगर आज आवेदन करे तो हम तत्काल उसकी एंट्री नहीं होने देंगे। प्रदेश के लिए जो भी काम करने का इच्छुक होगा, उसका स्वागत है।

Yogi Adityanath, BJP, UP election
सीएम योगी ने कहा कि अखिलेश यादव से अधिक शिवपाल यादव के पास अनुभव है(फोटो सोर्स: फाइल/PTI)।

उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राज्य में सियासी पारा चढ़ता जा रहा है। इस बीच तमाम राजनीतिक दलों में दूसरे दलों का आना जाना भी लगा हुआ है। ऐसे में बीते दिनों एक कार्यक्रम में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि हमारी पार्टी में हर वो व्यक्ति चाहिए जो प्रदेश के हित में कार्य करने का इच्छुक हो।

दरअसल इसी साल जून महीने में कांग्रेस के दिग्गज नेता जितिन प्रसाद ने भाजपा का दामन थाम लिया था। इसको लेकर बीते दिनों एक निजी न्यूज चैनल के कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ से सवाल किया गया था कि आखिर पिछले तीन चुनाव हारने वाले जितिन प्रसाद को भाजपा अपने साथ क्यों लेकर आई, इसलिए कि आज यूपी चुनाव में ब्राह्मण चेहरे की जरूरत है?

इसपर योगी ने कहा था कि किसी की पार्टी में ज्वाइनिंग तब होती है जब दोनों के बीच सहमति हो। हमें चेहरा नहीं बल्कि हर वो व्यक्ति चाहिए जो प्रदेश के हित में काम करने के लिए इच्छुक हो। अगर कोई आज आवेदन करे तो हम तत्काल उसकी एंट्री नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि “अगर अखिलेश यादव आज कहें कि हम भाजपा में आना चाहते हैं तो हम बोलेंगे कि कुछ दिन इंतजार करो बच्चे।”

यादव वोट बैंक के लिए अखिलेश यादव को अपनी पार्टी में लेने को लेकर सीएम योगी ने कहा था कि उनकी कोई जरूरत नहीं है। हो सकता है कि उनसे बड़े नेता शिवपाल यादव जी हों। वो जमीन से जुड़े हुए हैं। मुलायम सिंह यादव के सुख-दुख के सहभागी रहे हैं, उन्हें अधिक अनुभव होगा।

बता दें कि अगले विधानसभा चुनाव को देखते हुए कई नेताओं ने दल बदलना शुरू कर दिया है। पिछले महीने बसपा, कांग्रेस व समाजवादी पार्टी के कई नेताओं ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। इसमें कन्नौज से पूर्व विधायक इंद्रेश सिंह, पूर्व कांग्रेस नेता शशिलता चौहान, अंकुर राज तिवारी, उमेंद्र कुमार वर्मा, सतीश कुमार पूर्व विधायक नगीना, छोटे सिंह चौहान बसपा समेत कई नेताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट