ताज़ा खबर
 

यूपी: दो हजार दलितों ने डुबोईं देवताओं की तस्वीरें, चेताया- बन जाएंगे मुसलमान, छोड़ देंगे हिंदू धर्म

एक स्थानीय दलित ने कहा कि वो लोग (सवर्ण) दलितों को हिंदू नहीं मानते और उनके खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं इसलिए इससे बेहतर है मुसलमान बन जाना।

Author Updated: May 22, 2017 2:01 PM
जंतर मंतर पर प्रदर्शन करते सहारनपुर से आए दलित समाज के लोग। (Source: PTI)

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में करीब दो हजार मुसलमानों ने धमकी दी है कि ठाकुर समुदाय के हाथों उनका शोषण नहीं रुका तो इस्लाम अपना लेंगे। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार रविवार (21 मई) को इन दलितों ने हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें गांव के तालाब में डुबोईं। रिपोर्ट के अनुसार दलितों ने तस्वीरें डुबो कर हिंदू धर्म छोड़ने का संकेत दिया है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के अन्य इलाकों के दलित भी अगड़ी जातियों के हाथों उत्पीड़न के विरोध में धर्म परिवर्तन करने की धमकी दे चुके हैं।

अलीगढ़ के केशोपुर झोपड़ी गांव में पिछले हफ्ते विवाद तब शुरू हुआ जब दलितों ने एक खाली जमीन पर भैरव बाबा का मंदिर बनाने का प्रयास किया। पड़ोसी ठाकुरों ने मंदिर निर्माण का विरोध किया। स्थानीय दलित नेता बंटी सिंह टाइम्स ऑफ इंडिया अखबार को बताया कि उन लोगों ने “लगातार उत्पीड़न और शोषण” के चलते मुसलमान बनने का फैसला किया है। बंटी सिंह ने कहा कि वो लोग दलितों को हिंदू नहीं मानते और उनके खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं इसलिए इससे बेहतर है मुसलमान बन जाना।

एक अन्य दलित जयवीर सिंह ने टीओआई से कहा कि ठाकुरों ने उस जमीन पर नाली निकाल दी है जहां वो भैरव बाबा की मूर्ति लगाना चाहते थे। गांव के प्रधान के पति देवेंद्र चौहान ने टीओआई से कहा कि ठाकुरों ने कुछ गलत नहीं किया। चौहान ने माना कि भैरव बाबा मंदिर की जमीन पर नाली निकाली गयी थी। चौहान ने दावा किया कि मामला आपसी बातचीत से सुलक्ष चुका है। चौहान ने कुछ स्थानीय दलित नेताओं पर माहौल बिगाड़ने का आरोप लगाया।

हाल ही में यूपी के सहारनपुर में ठाकुरों और दलितों के बीच हिंसा में एक ठाकुर की जान चली गयी। ठाकुरों ने दलितों के दो दर्जन से ज्यादा घर जला दिए। वहीं दोषी ठाकुरों के खिलाफ कार्रवाई के लिए दलित संगठन भीम आर्मी ने सहारनपुर में विरोध प्रदर्शन किया जिसमें कई गाड़ियां फूंक दी गयीं और अन्य संपत्ति को नुकसान पहुंचा। भीम आर्मी ने रविवार (21 मई) को दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। सहारनपुर की हिंसा के बाद 150 से ज्यादा दलितों ने पुलिस के रवैये से दुखी होकर बौद्ध धर्म अपना लिया।

वीडियो- इलाहाबाद हाई कोर्ट ने योगी सरकार से कहा- "आप लोगों को मांसाहार से नहीं रोक सकते

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जान पर खतरा या होगी रफ्तार कम: ट्रैक तैयार किए बिना आज से तेजस को दौड़ाएंगे प्रभु, किराया भी रखा है विमान जैसा
2 भीम सेना ने जंतर-मंतर पर दिखाई ताकत, चंद्रशेखर ने एक पाठशाला से शुरू किया था संगठन का सफर
3 CIC ने सरकार, रक्षा मंत्रालय और नेवी से पूछा- क्यों बढ़ाई रूस से खरीदे गए विमानवाहक पोत ‘एडमिरल गोर्शकोव’ की कीमत
जस्‍ट नाउ
X