योगी आदित्यनाथ का अखिलेश पर तंज, बोले- बबुआ…ट्विटर ही तुम्हारे लिए वोट करेगा

इटावा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान हमारे दोनों विधायक, सांसद पूरी मेहनत से ज़िला प्रशासन, हेल्थ वर्कर्स और कोरोना वॉरियर्स के साथ मिलकर पूरी ईमानदारी के साथ जनता की सेवा कर रहे थे लेकिन दूसरे दलों के लोग होम आइसोलेशन में थे।

शनिवार को इटावा में आयोजित एक कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ ने बिना अखिलेश यादव का नाम लेते हुए कहा कि कुछ लोग कोरोना महामारी के दौरान अपने घर और ट्विटर तक सीमित थे। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

अगले साल की शुरुआत में उत्तरप्रदेश में विधानसभा चुनाव होने को हैं। चुनाव से पहले राजनीतिक दलों के द्वारा एक दूसरे के खिलाफ वार-पलटवार किए जाने का दौर जारी है। शनिवार को उत्तरप्रदेश के इटावा में आयोजित एक कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान दूसरे दलों के नेता अपने घरों में दुबके हुए थे। साथ ही उन्होंने सपा प्रमुख अखिलेश यादव का बिना नाम लिए हुए उनपर निशाना साधते हुए कहा कि बबुआ ट्विटर ही तुम्हारे लिए वोट करेगा।

दरअसल शनिवार को इटावा में केंद्रीय कारागार व विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को संबोधित भी किया। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना के दौरान मैं आपके जिले में व्यवस्था को देखने के लिए दो बार आया था। हमारे दोनों विधायक, सांसद पूरी मेहनत से ज़िला प्रशासन, हेल्थ वर्कर्स और कोरोना वॉरियर्स के साथ मिलकर पूरी ईमानदारी के साथ जनता की सेवा कर रहे थे लेकिन दूसरे दलों के लोग होम आइसोलेशन में थे।

आगे योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो आपके संकट के समय में घर में दुबक कर बैठ जाएं तो चुनाव में भी उनको घर में ही दुबक कर रहने की आवश्यकता है, उनको घर में ही दुबका देना। जो आपके संकट में खड़ा नहीं हो सकते हैं… जो आपके दुख में सहभागी नहीं हो सकते हैं उनको वक्त आने पर उसी प्रकार से जवाब देने की आवश्यकता है जैसे वे लोग आपके संकट के समय में घर और ट्विटर तक सीमित थे। उनको कहना कि बबुआ ये ट्विटर ही वोट दे देगा। 

इस दौरान उन्होंने लोगों से पूछा कि आप में से कितने लोगों ने कोरोना टीका लिया है। इसपर अधिकांश लोगों ने हां में जवाब दिया। इसके बाद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इतने भारी पैमाने पर आप लोगों ने टीका लगाया है लेकिन इटावा की धरती में पता नहीं कैसे कोई पैदा होते हैं जो टीके का विरोध भी कर रहे थे। दरअसल इसी साल जनवरी में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा था कि वह भाजपा का टीका नहीं लगाएंगे। योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव के इसी बयान को लेकर उनपर तंज कसा।     

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह का लंबी बीमारी के बाद निधन, लखनऊ के पीजीआई में ली अंतिम सांस
अपडेट