योगी आदित्यनाथ रखते थे 1 लाख रुपए की रिवॉल्वर; देखें- हथियार रखने पर क्या कही थी बात

साल 2017 में हुए उत्तरप्रदेश के विधानपरिषद चुनाव में योगी आदित्यनाथ ने अपने एफिडेविट में रिवाल्वर और राइफल रखने की सूचना दी थी।

yogi adityanath, BJP , UPयोगी आदित्यनाथ ने अपने चुनावी एफिडेविट में बताया था कि उनके पास एक लाख रुपए की रिवाल्वर और 80 हजार रुपए की राइफल भी है। (एक्सप्रेस फोटो / विशाल श्रीवास्तव)

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही सादगी भरा जीवन जीने का वादा करते हों लेकिन वो अपने पास एक रिवाल्वर और राइफल भी रखते हैं। एक कार्यक्रम के दौरान जब योगी आदित्यनाथ से यह पूछा गया कि आप योगी होने के बावजूद ऐसे हथियार अपने पास क्यों रखते हैं तो उन्होंने कहा था कि वह संन्यासी होने की वजह से इसको अपने पास रखते हैं।

दरअसल इंडिया टीवी पर आयोजित आप की अदालत कार्यक्रम में जब शो के एंकर रजत शर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सवाल पूछा कि अगर आपको अपराध नहीं करने हैं तो आपके पास एक लाख रूपये की राइफल और 80 हजार की रिवाल्वर क्यों है। इसके जवाब में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हां मेर पास दोनों है। साथ ही उन्होंने कहा कि एक संन्यासी को शास्त्र और शस्त्र दोनों का प्रशिक्षण दिया जाता है, माला जपने के साथ ही भालना चलाने की भी ट्रेनिंग एक संन्यासी को दी जाती है।

इसके अलावा कार्यक्रम में एंकर रजत शर्मा ने योगी आदित्यनाथ से सवाल पूछते हुए कहा कि वैसे तो आप योगी हैं, लोगों को तो आपका चेहरा देखते ही शांत हो जाना चाहिए। लेकिन एक तस्वीर में आप बाघ को दूध पिलाते हुए दिख रहे हैं। इसपर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिसमें बाघ जैसा साहस होगा वो ही बाघ को दूध पिला सकता है। साथ ही जब योगी आदित्यनाथ से यह पूछा गया कि क्या आपने कभी मर्डर या अपराध किया है तो उन्होंने कहा कि मैंने कभी भी कोई अपराध नहीं किया है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि क्या मुझे देखकर आपको लगता है कि मैं मर्डर कर सकता हूं।

साल 2017 में हुए उत्तरप्रदेश के विधानपरिषद चुनाव में योगी आदित्यनाथ ने अपने एफिडेविट में रिवाल्वर और राइफल रखने की सूचना दी थी। योगी आदित्यनाथ ने अपने एफिडेविट में बताया था कि उनके पास  एक लाख रुपए की रिवाल्वर और 80 हजार रुपए की राइफल भी है। बता दें कि योगी पर गोरखपुर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर में कुल 8 क्रिमिनल केस दर्ज हैं, लेकिन किसी में सजा नहीं हुई है।

योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर का सांसद रहते हुए हिंदू युवा वाहिनी का गठन किया था। इस संगठन के बारे में कहा जाता था कि यह योगी आदित्यनाथ की निजी सेना है। पूर्वांचल के इलाकों में खासकर गोरखपुर, देवरिया, महराजगंज, कुशीनगर, सिद्धार्थनगर, मऊ के इलाके में हिंदू युवा वाहिनी पर कई केस दर्ज हैं। इस संगठन पर यूपी के कई इलाकों में मुसलमानों के ऊपर हमले और सांप्रदायिक हिंसा भड़काने के लिए मामले दर्ज किए गए थे। इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि हिंदू युवा वाहिनी के इन्हीं कामों की वजह से योगी आदित्यनाथ को पूर्वांचल के इलाकों में प्रसिद्धि मिलने लगी थी।   

Next Stories
1 पत्रकारों के कड़े सवाल के बीच जब सिगरेट के कश लगा रहे थे विजय माल्या, बोले थे- इंग्लैड लौटना ‘भागकर’ आना नहीं है
2 कोरोनाः बिहार में रद्द कर दिया, पर UP में हो रहा है पंचायत चुनाव- बोलीं कांग्रेस नेत्री; BJP नेता ने कहा- 1 साल से महाराष्ट्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ सरकारें क्या कर रही थी?
3 कोरोनाः ‘दूसरी लहर को EC जिम्मेदार, अफसरों पर हो मर्डर केस’, मद्रास HC ने चेताया- प्रोटोकॉल का पालन न हुआ तो 2 मई को रुकवा देंगे मतगणना
यह पढ़ा क्या?
X