ताज़ा खबर
 

देर रात मीटिंग और सुबह फिर से काम, सीएम की बैठकों से परेशान थे यूपी के नौकरशाह, योगी आदित्यनाथ ने अब निकाली यह तरकीब

मुख्यमंत्रियों के कार्यालय और उनकी करीबी टीम में काम करने वालों की हालत और भी बदतर हैं, क्योंकि उनका दिन बहुत सुबह शुरू हो जाता है और देर रात तक काम करना पड़ता है।

Author नई दिल्ली | Updated: September 20, 2019 1:40 PM
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। (file photo)

योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनाने के बाद से अधिकारियों का वर्क कल्चर पूरी तरह बादल गया है। मुख्यमंत्री योगी द्वारा घंटों तक काम करने और देर रात तक मीटिंग लेने की वजह से नौकरशाहों को हर वक्त अलर्ट रहना पड़ रहा है। इस नए वर्क कल्चर और जवाबदेही के चलते अधिकारियों में नाराजगी है। मुख्यमंत्रियों के कार्यालय और उनकी करीबी टीम में काम करने वालों की हालत और भी बदतर हैं, क्योंकि उनका दिन बहुत सुबह शुरू हो जाता है और देर रात तक काम करना पड़ता है।

देश के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य के मुख्यमंत्री बनाने के बाद योगी आदित्यनाथ ने बहुत जल्द महसूस किया कि ज्यादातर अधिकारियों को फाइलों को निपटाने और लोगों से मिलने की बजाय एक के बाद दूसरी मीटिंग में व्यस्त रहने की आदत है। मोटे तौर पर यह दिन काटने, कड़े निर्णय लेने से बचने और भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों की पहचान करने से बचने का तरीका था। योगी ने अधिकारियों को अलर्ट करने की एक तरकीब निकली। न्यूज़ 18 से बात करते हुए सीएम योगी ने बताया कि जब उन्होंने नौकरशाहों को मीटिंग के लिए बुलाया तो उन्हें एहसास हुआ कि मामला और बदतर हो गए है। योगी ने कहा “सीएम की बैठक की तैयारी के बहाने उन्हें पूरा दिन बर्बाद करने का बहाना मिल जाता था।”


वहीं सीएम की समीक्षा बैठकों में अधिकारियों के साथ सभी कर्मचारी भी आते थे इस से पूरे डिपार्टमेंट का काम रुक जाता था। ऐसे में सीएम योगी ने एक आदेश जारी किया कि सिर्फ प्रिंसिपल सेक्रेटरी या डिपार्टमेंट हेड ही मीटिंग के लिए आएंगे। इसका फाइदा यह हुआ कि अब प्रिंसिपल सेक्रेटरी छोटी-छोटी क्वेरी के लिए अपने डिप्‍टी की तरफ मुड़कर देखने के बजाय खुद पूरी तैयारी के साथ आते हैं। साथ ही ऐसा करने से डिपार्टमेंट का काम नहीं रुकता अन्य अधिकारी दिन के नियमित काम को निपटाने के लिए स्वतंत्र रहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 इंटरनेट का इस्तेमाल मौलिक अधिकार, यूं ही नहीं छीन सकते- हाई कोर्ट का फैसला
2 चार साल में पहली बार इतना महंगा प्‍याज, एक ही द‍िन में 1000 रुपए/क्‍व‍िंटल बढ़े भाव
3 यूपी: जेई का काटा 3 हजार रुपये का चालान, थाने और चौकी की कटवा दी बिजली