ताज़ा खबर
 

कोरोनाः ‘इंसान रहेगा, तो आस्था है’, रमजान पर UP CM ने किया साफ- चाहे कोई धर्म स्थल हो, 5 से अधिक लोग न हो एकजुट

उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है।

CORONA, LOCKDOWN, YOGI GOVERNMENT, ALLAHABAD HIGHCOURT, SUPREME COURTयोगी सरकार ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को मानने से किया इनकार (Indian Express)।

उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है। यूपी सरकार ने आने वाले धार्मिक त्योहारों और समारोहों को लेकर सख्त कदम उठाए हैं। सरकार ने साफ किया है कि राज्य में चाहे कोई भी धार्मिक स्थल हो वहां पांच से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने नवरात्रि और रमज़ान के आगामी त्योहारों के दौरान कोविड महामारी पर नियंत्रण के लिए धार्मिक स्थानों पर पाँच से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध की घोषणा की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया। मामले पर योगी आदित्यनाथ का कहना है कि इंसान की जान बची रहेगी तो ही वह अपनी आस्था व्यक्त कर पाएगा। इंसान रहेगा तो आस्था है, आस्था से इंसान नहीं है।

मालूम हो कि राज्य की राजधानी लखनऊ में लोकभवन में समीक्षा बैठक में, मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को अगले 24 घंटों में लखनऊ में 2,000 आईसीयू बेड और एक सप्ताह में अन्य 2,000 बेड की व्यवस्था करने का निर्देश दिया। यूपी सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “इसका मतलब है कि लखनऊ में COVID-19 खतरे से निपटने के लिए अतिरिक्त 4,000 ICU बेड बनाए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को ड्यूटी पर अधिक एंबुलेंस लगाने का निर्देश दिया है।” वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार ने रविवार को कोरोनो वायरस मामलों में एक खतरनाक वृद्धि के बीच नए प्रतिबंधों की घोषणा की। 30 अप्रैल तक राज्य के सभी स्कूलों को बंद करने के आदेश दिए गए हैं।

जिन जिलों में कोरोना के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है वहां रात के समय कर्फ्यू लगाने की घोषणा की गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में, हर दिन कम से कम 1 लाख आरटी-पीसीआर टेस्ट करने का निर्णय लिया गया। आदेश के अनुसार, जिन जिलों में रोज 100 मामले या 500 से ज्यादा एक्टिव केस हैं वहां रात के वक्त कर्फ्यू रखा जाएगा।

इससे पहले, सरकार ने जिलाधिकारियों को रात के कर्फ्यू की शक्तियां सौंप दी थीं। राज्य की राजधानी लखनऊ और कानपुर, वाराणसी और प्रयागराज जैसे अन्य जिलों में कई जगह पहले से ही कर्फ्यू लगा हुआ है।

मालूम हो कि शनिवार को, उत्तर प्रदेश में कोरोना के 12,787 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमण का आंकड़ा 6,76,739 हो गया। 48 और मौतों के साथ, राज्य में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 9,085 तक पहुंच गई है।

राज्य में लखनऊ (4,059), इलाहाबाद (1,460 ), वाराणसी (983 ), कानपुर (706 ) से कोरोना के मामले दर्ज किए गए। राज्य में सक्रिय COVID-19 मामलों की गिनती 58,801 है।

Next Stories
1 जब मुकेश अंबानी ने राजदीप से कहा था- मैं आपको गंभीरता से नहीं लेता, सरदेसाई ने बदल दिया था सवाल का रुख
2 हम कोई गाली-गलौज देने नहीं आए हैं, यथार्थ पर बात करो- जब राजदीप सरदेसाई से बोले थे लालू प्रसाद यादव
3 मरकज बंद, जमाती दिख न रहे, फिर ये कम्बख्त कोरोना क्यों फैल रहा? कांग्रेसी आचार्य ने “गोदी मीडिया” से पूछा
आज का राशिफल
X