ताज़ा खबर
 

यूपी: बीजेपी एमएलए ने कहा- हम ज़्यादा बोलेंगे तो देशद्रोह लग जाएगा, जो सरकार कह रही वही सही

कोविड-19 की दूसरी लहर में यूपी की योगी सरकार के खिलाफ कई बीजेपी नेताओं ने मोर्चा खोला है। सबसे पहले केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह के उस ट्वीट ने हंगामा बरपा दिया जिसमें वो अपने भाई के लिए एक अदद बेड की फरियाद करते दिखे।

यूपी के सीतापुर के बीजेपी विधायक राकेश राठौड़ (फोटोः फेसबुक पेज राकेश राठौड़)

कोरोना पर लगातार मुखऱ हो रहे बीजेपी के एमएलए फिलहाल योगी सरकार से डरे हुए लगते हैं। सीतापुर के एमएलए राकेश राठौड़ एक वायरल वीडियो में कहते दिखे कि वो ज्यादा बोलेंगे तो उन पर भी देशद्रोह राजद्रोह लग जाएगा। वो कह रहे हैं कि विधायकों की हैसियत क्या है। जो सरकार कह रही है उसे ही ठीक मानो।

कोविड-19 की दूसरी लहर में यूपी की योगी सरकार के खिलाफ कई बीजेपी नेताओं ने मोर्चा खोला है। सबसे पहले केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह के उस ट्वीट ने हंगामा बरपा दिया जिसमें वो अपने भाई के लिए एक अदद बेड की फरियाद करते दिखे। हालांकि, बाद में उन्होंने ट्वीट डिलीट कर दिया और सफाई दी कि वो किसी और के लिए मदद मांग रहे थे। उनके भाई को बेड की जरूरत नहीं थी।

हालांकि, इसके बाद योगी की किरकिरी तब और ज्यादा हुई जब एक और केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने सीएम को खुला पत्र लिखकर आरोप लगाया कि अस्पतालों के डॉक्टर उनका फोन तक नहीं उठाते। उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र बरेली में व्याप्त विसंगतियों के साथ यूपी के सरकारी सिस्टम की बेचारगी को भी व्यक्त किया। उनके अलावा कई और भी विधायक हैं जो योगी सरकार को आईना दिखाते दिखे, पर बाद में उनकी आवाज कहीं दबकर रह गई।

मतलब साफ है कि योगी सरकार अपने ही नुमाइंदों को डराने धमकाने का काम कर रही है। विधायक राकेश राठौड़ के वीडियो में अपना दर्द बयां करते देखे जा रहे हैं। उनका कहना है कि वो बोलेंगे तो सरकार उनको भी अपपा निशाना बना सकती है। गौरतलब है कि इससे पहले पीएम मोदी के ताली थाली वाले बयान पर राठौड़ ने तीखी टिप्पणी की थी। उसके बाद बीजेपी की तरफ से उन्हें नोटिस जारी करके जवाब मांगा गया था। ये वीडियो वायरल भी हुआ था।

राठौर के खिलाफ लोकसभा चुनाव में भी पार्टी नेतृत्व से शिकायतें हुई थीं। कोरोना के विरुद्ध जनजागरण अभियान के दौरान भी राठौर के खिलाफ पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को शिकायतें मिलीं थीं। इन अभियानों के दौरान विधायक ने उच्च पदस्थ नेताओं के खिलाफ  सार्वजनिक रूप से टिप्पणियां कर उनका माखौल भी उड़ाया था।

Next Stories
1 कोरोना: लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों से मध्य प्रदेश पुलिस लिखवा रही राम नाम, बंगाल में तीन भाजपा एमएलए गिरफ़्तार
2 समर्थन देने वाले 25 मुल्कों को इजराइल ने अदा किया शुक्रिया, पर नहीं किया भारत का जिक्र; लोग लगे पूछने- भारतीय ध्वज कहां है?
3 उच्चतम न्यायालय, उच्च न्यायालयों में रिक्तियां : सरकार को अनुशंसाओं की प्रतीक्षा
ये पढ़ा क्या?
X