ताज़ा खबर
 

यूपी का हाल: तीन बजे तीमारदार पानी लाया, साढ़े दस बजे स्टाफ ने मरीज तक पहुंचाया; कुछ ही घंटे बाद मौत

मरीज के परिजन ने एक टीवी चैनल को बताया कि अस्पताल में कोई इंतज़ाम नहीं है। बदइंतजामी का आलम यह है कि मेरे मरीज (श्वसुर) ने पानी माँगा था। दोपहर बाद साढ़ेतीन बजे मैं पानी रख गया था, लेकिन रात दस बजे जब मैं खाना लेकर आया तब तक वह पानी वहीं रखा था। मंगलवार को उनकी मौत हो गई।

कोरोना से मचा यूपी में हाहाकार, अस्पताल में नहीं मिल रहा इलाज (फोटोः एजेंसी)

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर के अस्पताल में कोविड के एक मरीज की मौत हो गयी है। मरीज के परिजन ने एक टीवी चैनल को बताया कि अस्पताल में कोई इंतज़ाम नहीं है, बदइंतजामी का आलम यह है कि मेरे मरीज (श्वसुर) ने पानी माँगा था। दोपहर बाद साढ़ेतीन बजे मैं पानी रख गया था, लेकिन रात दस बजे जब मैं खाना लेकर आया तब तक वह पानी वहीं रखा था। उस शख़्स ने सोमवार को अपने श्वसुर को भर्ती कराया और मंगलवार को उनकी मौत हो गई।

यूपी में कोरोना से लगातार स्थिति भयावह होती जा रही है। लेकिन सरकार कोई राहत दे पाने में नाकाम ही रही है। कोरोना के बढ़ते कहर के बीच उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। अब यूपी में 10 मई को सुबह 7 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। इससे पहले उत्तर प्रदेश में लगाया गया आंशिक कोरोना कर्फ्यू 6 मई को सुबह 7 बजे तक बढ़ा दिया गया था। अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया कि यूपी सरकार ने 10 मई को सुबह 7 बजे तक आंशिक कोरोना कर्फ्यू का विस्तार करने का फैसला किया है।

यूपी में कोरोना संक्रमण के बीते 24 घंटे में 25,858 नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा इस दौरान 352 लोगों की मौत भी हुई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 2,72,568 हो गई है। कुल संक्रमितों की संख्या अब 13,68,183 पहुंच चुकी है। मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 13,798 हो गया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य में सामुदायिक भोजनालयों के संचालन की जरूरत पर जोर देते हुए मंगलवार को निर्देश दिए कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कोविड-19 महामारी के प्रबंधन की समीक्षा करते हुए कहा कि आंशिक कोरोना कर्फ्यू के कारण कहीं भी किसी श्रमिक, ठेला, रेहड़ी व्यवसायी, दिहाड़ी मजदूर को भोजन की समस्या न हो।

प्रदेश सरकार ने मास्क न पहनने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। बिना मास्क के बाहर निकलने वालों पर पहली बार एक हजार रुपये जुर्माना लिया जाएगा। दूसरी बार 10 गुना ज्यादा जुर्माना देना होगा। प्रदेश सरकार ने कोरोना प्रोटोकॉल कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए।

Next Stories
1 आखिर कहां जा रही विदेशी मददः विपक्ष के बाद अमेरिकी प्रेस ने भी उठाए सवाल, सरकार का दावा- सब कुछ बेहतरीन
2 कोरोनाः विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ ब्रिटेन टूर पर गए ऑफिसर निकले कोरोना पॉजिटिव, अब करेंगे वर्चुअल मीटिंग
3 भारत में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर तय- बोले देश के वैज्ञानिक सलाहकार
ये  पढ़ा क्या?
X