ताज़ा खबर
 

जब नेहरू की सिगरेट लेने इंदौर भेजा गया था विमान, जानें कैसे हुआ था पसंदीदा ब्रांड का इंतज़ाम

जब राजभवन के अधिकारियों को यह पता चला कि नेहरू जी की पसंदीदा सिगरेट एक्सप्रेस 555 वहां मौजूद नहीं है तो आनन् फानन में तुरंत एक विमान को सिगरेट लाने के लिए भोपाल से इंदौर भेजा गया।

jawahar lal nehru , congres , cigaretteभारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु (फोटो – एक्सप्रेस आर्काइव )

देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के बारे में हमलोग अक्सर कई किस्से सुनते हैं। कई बार उनमें कुछ किस्से सच होते हैं तो कई सच से कोसों दूर होते हैं। जवाहर लाल नेहरु के जिन्दगी जीने का तरीका काफी राजशाही और रोचक था। वे इतने आलीशान जिंदगी जीते थे कि एक बार उनके पसंदीदा सिंगरेट को लाने के लिए विमान को इंदौर भेज दिया गया था। 

मध्यप्रदेश राजभवन की वेबसाइट पर दी गयी जानकारी के एक बार तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू भोपाल के दौरे पर गए थे। भोपाल दौरे पर वो राजभवन में रुके थे।जवाहरलाल नेहरू खाना खाने के बाद सिगरेट पीना पसंद किया करते थे। लेकिन राजभवन में उस समय सिगरेट मौजूद नहीं था। बाद में जब राजभवन के अधिकारियों को यह पता चला कि नेहरू जी की पसंदीदा सिगरेट एक्सप्रेस 555 वहां मौजूद नहीं है तो आनन् फानन में तुरंत एक विमान को सिगरेट लाने के लिए भोपाल से इंदौर भेजा गया। स्टेट एक्सप्रेस 555 उस ज़माने का मशहूर सिगरेट ब्रैंड हुआ करता था।

नेहरु जी से जुड़े एक और किस्से का जिक्र राजभवन की वेबसाइट पर किया गया है। किस्से के अनुसार एक बार भोपाल की महारानी ने नेहरु जी को अपने घर पर रुकने के लिए आमंत्रित किया। नेहरु जी ने आमंत्रण को स्वीकार कर उनके घर पर रुकने की हामी भर दी। लेकिन जैसे ही इसकी जानकारी तत्कालीन राज्यपाल विनायक पतासकर को लगी तो उन्होंने तुरंत नेहरू जी को कहा कि आप एक आधिकारिक यात्रा पर हैं और राजभवन ही आपके रुकने के लिए उपयुक्त जगह है।

इसके अलावा भी जवाहर लाल नेहरू जी के कई किस्से हैं जिसमें उनके आलीशान जीवनशैली का जिक्र होता है। कहा तो ये भी जाता है कि मोतीलाल नेहरू और जवाहरलाल नेहरू के कपड़े लंदन में धुलने जाया करते थे। जवाहरलाल नेहरू के बाल काटने के लिए नाई राष्ट्रपति भवन से आया करता था। उनका नाई हमेशा लेट हो जाया करता था। एक दिन नेहरू जी के पूछने पर नाई ने कहा कि मेरे पास घड़ी नहीं है जिसके कारण वो हमेशा लेट हो जाया करते हैं। जिसके बाद नेहरू लंदन से नाई के लिए नई घड़ी लेकर आए थे।

Next Stories
1 कृषि कानून से अधिक गन्ने का मुद्दा मुजफ्फरनगर के गावों में हावी, बोले- अधिक जानकारी नहीं, पर आंदोलनकारियों के समर्थन में
2 चुनावी सूबों में Congress की राह नहीं आसान! CAA, किसान आंदोलन को भुनाने की कवायद में जुटी
3 तमिलनाडु को रिमोट से काबू करते हैं PM मोदी, जब बढ़ाते हैं आवाज तो CM तेजी से करने लगते हैं बात- चुनाव से पहले राहुल का प्रहार
ये पढ़ा क्या?
X