ताज़ा खबर
 

उन्नाव रेप पीड़िता ने तोड़ा दम, FIR से खुलासा- बंधक बनाकर रखा गया, घर से बाहर झांकने तक पर किया जाता था बलात्कार

पीड़िता के मुताबिक, आरोपी ने उसे शादी का झांसा दिया। वह उसके साथ शादी के लिए लालगंज गई। यहां उसके साथ रेप हुआ और इस वारदात को मोबाइल फोन में रिकॉर्ड किया गया।

2012 में बलात्कार के चौबीस हजार नौ सौ तेईस मामले दर्ज हुए थे। (सांकेतिक तस्वीर)

उन्नाव बलात्कार पीड़िता की शुक्रवार देर रात नई दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। बता दें कि वारदात के बाद पीड़िता को जला दिया गया था। अस्पताल के बर्न और प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया, ‘हमारे बेहतर प्रयासों के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका। शाम में उसकी हालत खराब होने लगी। रात 11 बजकर 10 मिनट पर उसे दिल का दौरा पड़ा। हमने बचाने की कोशिश की लेकिन रात 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मौत हो गई।’’ बता दें कि गुरुवार को जिंदा जलाए जाने के बाद उसे गंभीर हालत में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था।

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता की ओर से पुलिस के पास लिखवाई गई एफआईआर में उसके साथ हुए जघन्य अपराध की पूरी डिटेल्स सामने आई हैं। एफआईआर के मुताबिक, पीड़िता को बंधक बनाकर रखा गया। जिस घर में उसे रखा गया, वहां से उसे बाहर झांकने तक की इजाजत नहीं थी। जब उसे छोड़ा गया तो धमकी दी गई कि अगर उसने पुलिस से शिकायत की तो न केवल उससे दोबारा रेप होगा, बल्कि उसके वीडियोज भी ऑनलाइन कर दिए जाएंगे।

पीड़िता ने धमकियों को नजरअंदाज करते हुए पुलिस से संपर्क किया और दो एफआईआर लिखवाए। पहली एफआईआर 5 मार्च को उन्नाव में जबकि दूसरी एफआईअर इसके अगले दिन रायबरेली में लिखी गई। पीड़िता ने जिस शख्स से प्रेम किया, उसी ने उसे धोखा दिया और कथित तौर पर जला दिया। पीड़िता ने मजिस्ट्रेट के सामने भी अपना दर्द बयां किया था।

पीड़िता को किन यातनाओं से गुजरना पड़ा, इसके बारे में एफआईआर से पता चलता है। इसके मुताबिक, बंधक बनाकर रखे जाने के दौरान जब भी वह घर से बाहर झांकती, उसे पीटा जाता और बलात्कार किया जाता। प्रदेश महिला आयोग से की गई शिकायत में भी पीड़िता ने इन्हीं शब्दों में अपना दर्द बयां किया था।

पीड़िता के मुताबिक, आरोपी ने उसे शादी का झांसा दिया। वह उसके साथ शादी के लिए लालगंज गई। यहां उसके साथ रेप हुआ और इस वारदात को मोबाइल फोन में रिकॉर्ड किया गया। एफआईआर के मुताबिक, यह उसके साथ हुए जुल्मों की शुरुआत भर थी। उसे वीडियो ऑनलाइन करने की धमकी दी जाती और दोबारा रेप किया जाता।

उसे एक किराए के कमरे में बंधक बनाकर रखा गया और उस पर कड़ी निगरानी रखी जाती थी। एफआईआर के मुताबिक, प्रेमी ने उसे धमकी दी कि अगर पीड़िता ने घर से बाहर निकलने की कोशिश की तो वह उसे मार देगा। आरोपी पीड़िता को रखने के लिए लगातार घर और शहर बदलता रहा। एफआईआर में दी गई जानकारी के मुताबिक, 19 जनवरी 2018 को उसने आरोपी के खिलाफ आवाज उठाई और उसे वादे के मुताबिक शादी करने के लिए दोबारा कहा।

आरोपी उसे रायबरेली की एक अदालत ले गया और वहां शादी का कॉन्ट्रैक्ट तैयार कराया। शादी के नाम पर पीड़िता को रायबरेली में एक महीने रखने के बाद, आरोपी उसे गांव ले आया। इस बार पीड़िता जब आरोपी से मिली तो उसे हत्या की धमकी मिली। निराश और बेहद डरी पीड़िता ने रायबरेली में अपनी रिश्तेदार के यहां शरण ली। आरोपी को किसी तरह उसका पता चल गया और 12 दिसंबर 2018 को वहां पहुंचा।

एफआईआर के मुताबिक, आरोपी ने फिर से पीड़िता को शादी का वादा किया और उसे उस मंदिर ले गया जहां उसने भगवान के सामने शादी की कसमें खाई थीं। हालांकि, वापस लौटते वक्त आरोपी और उसके भाई दोनों ने पिस्तौल की नोक पर रेप किया। एफआईआर में जिक्र है कि पीड़िता ने रायबरेली पुलिस से इस बारे में संपर्क किया, लेकिन उसकी शिकायत दर्ज नहीं की गई। कोर्ट के दखल के बाद, दो थानों में गैंगरेप, धमकाने आदि की धाराओं में केस दर्ज हो सका।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Jharkhand Assembly Election 2019 Voting: दूसरे चरण में 20 सीटों पर 60.57 प्रतिशत मतदान हुआ, सिसई में पुलिस गोलीबारी में एक ग्रामीण की मौत
2 दिल्ली आग- बिल्डिंग में लगी फिर से आग, मौके पर 2 दमकल गाड़ियां हुई रवाना
3 अधीर के बयान पर कांग्रेस सदस्यों और स्मृति के बीच नोकझोंक
ये पढ़ा क्या?
X