ताज़ा खबर
 

रेप के आरोपी विधायक के बचाव में बोले मोदी सरकार के मंत्री सत्यपाल सिंह- कभी कभी गलत भी होते हैं आरोप

उन्नाव गैंगरेप मामले में केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह मीडिया के सामने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का बचाव करते नजर आए। पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए सत्यपाल सिंह ने कहा- ''सरकार ने एक एसआईटी बनाई है, आज मीडिया की रिपोर्ट है कि...

केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह। (फोटो सोर्स- एएनआई)

उन्नाव गैंगरेप मामले में केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह मीडिया के सामने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का बचाव करते नजर आए। पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए सत्यपाल सिंह ने कहा- ”सरकार ने एक एसआईटी बनाई है, आज मीडिया की रिपोर्ट है कि उन्होंने माननीय योगी जी को रिपोर्ट भेजी है, इस प्रदेश के डीजी, इस प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री इस बात को कई बार कह चुके हैं, अगर कोई भी इसमें लिप्त मिला, चाहें विधायक हो या कोई भी दूसरा आदमी हो, छोटा हो, बड़ो हो, किसी को बख्शा नहीं जाएगा।” लेकिन जब पत्रकार ने सत्यपाल सिंह से पूछा- ”सरकार की इतनी किरकिरी हो रही है, क्या सरकार को प्रथमदृष्या बाहर निकाल देना चाहिए विधायक को?” इस सवाल के जवाब में मोदी सरकार के मंत्री आरोपी विधायक का बचाव कर गए। सत्यपाल सिंह ने कहा- ”ये तो वरिष्ठ नेतृत्व का काम है, मुझे नहीं मालूम है, देखिए कभी कभी आरोप गलत भी होते हैं, मुझको नहीं मालूम है कि विधायक का कितना हाथ है, जानकारी नहीं है।”

इस मामले में केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी मीडिया से बात की। मेनका गांधी ने कहा- ”मामला सीबीआई के पास चला गया है, इस मामले में एक्शन लिया जा चुका है। न्याय किया जाएगा।” बता दें कि उन्नाव गैंगरेप मामले में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ उन्नाव के माखी थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 363, 366, 376, 506 और पॉस्को एक्ट में केस दर्ज किया गया है। मामले में विधायक के भाई अतुल सिंह सेंगर को गिरफ्तार कर लिया गया है। करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को भी लापरवाही बरतने के चलते निलंबित किया गया है। यूपी पुलिस के मुताबिक केस सीबीआई को ट्रांसफर किया जा चुका है, लेकिन एसआईटी अपना काम करती रहेगी।

इस मामले को लेकर राज्य और केंद्र की बीजेपी सरकार की खासी किरकिरी हो रही है। यूपी की योगी सरकार पर आरोपी विधायक को बचाने के आरोप लग रहे हैं। पार्टी के लोग भी इस मामले पर सरकार के रवैये के प्रति हताशा जाहिर कर चुके हैं। बीजेपी नेता और प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सुनील भराला ने इस मामले को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए एक के बाद एक तीन ट्वीट कर पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से दखल देने की मांग की है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रोड रेज केस: नवजोत सिंह सिद्धू की मुश्किलें बढ़ीं, पंजाब सरकार ने दोषी करार देने को कहा
2 कठुआ गैंगरेप पर आखिरकार बोले राहुल गांधी- ऐसी घटना के दोषियों का बचाव कोई कैसे कर सकता है
3 ब्रिटिश कंपनी का दावा- भारत सरकार पर बकाया है 250 करोड़ रुपये का भुगतान
ये पढ़ा क्या?
X