ताज़ा खबर
 

वीडियोः मंदिर-मस्जिद के बाद गुरुद्वारे पहुंचीं यूएन में अमेरिकी राजदूत, बेलीं लंगर की रोटियां

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली इन दिनों भारत की यात्रा पर हैं। उन्होंने दिल्ली में जामा मस्जिद, गौरी शंकर मंदिर और गुरुद्वारा शीश गंज साहिब में जाकर पूजा-अर्चना और इबादत की। निक्की हेली ने गुरुद्वारा में लंगर के लिए रोटियां भी बेलीं।

Author नई दिल्ली | June 28, 2018 7:03 PM
गुरुद्वारा शीश गंज साहिब में रोटी बेलतीं यूएन में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीतियों के कारण भारत और अमेरिका के संबंध पहले की तरह सामान्य नहीं हैं। द्विपक्षीय व्यापार के बाद ईरान से कच्चे तेल के आयात पर अमेरिकी फरमान ने आग में घी डालने जैसा काम किया है। ऐसे में संबंधों में फिर से गर्मजोशी लाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत भारतीय मूल की निक्की हेली इन दिनों भारत की यात्रा पर हैं। इस दौरान उन्होंने दिल्ली में मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारे में जाकर इबादत की। उन्होंने चांदनी चौक स्थित शीश गंज गुरुद्वारे में जाकर लंगर के लिए रोटियां भी बेलीं। रोटी बेलते उनका वीडियो भी सामने आया है। इतना ही नहीं निक्की हेली ने लंगर के लिए सब्जी बनाने में भी मदद की। इसके बाद निक्की हेली ऐतिहासिक जामा मस्जिद भी गईं और वहां का मुआयना किया। इस दौरान उन्होंने मस्जिद के इतिहास के अलावा कलाकृति और निर्माण शैली के बारे में भी जानकारी ली। निक्की ने मस्जिद का प्रबंधन करने वाले लोगों से भी मुलाकात की। गुरुद्वारे और मस्जिद जाने के अलावा अमेरिकी राजनयिक ने मंदिर में भी जाकर दर्शन किए। वह दिल्ली स्थित गौरी शंकर मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना भी की।

भारत-अमेरिका में बढ़ी तकरार: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीतियों के कारण भारत और अमेरिका के संबंधों में पिछले कुछ दिनों में तल्खी आ गई है। ट्रंप ने द्विपक्षीय के साथ ही बहुपक्षीय मंचों से व्यापार घाटे और अमेरिकी उत्पादों पर लगाए जाने वाले टैक्स पर सख्त टिप्पणी की थी। ट्रंप सरकार ने अतिरिक्त शुल्क को अविलंब कम करने की बात कही थी। खासकर हर्ले डेविडसन बाइक पर लगने वाले 100 फीसद के शुल्क को कम करने को कहा था। हालांकि, भारत ने इस दिशा में कदम उठाते हुए शुल्क को कम कर दिया था। अमेरिका ने भारत से आयात किए जाने वाले स्टील पर भी अतिरिक्त शुल्क लगा दिया था। इसके जवाब में भारत ने भी कुछ अमेरिकी उत्पादों पर अतिरिक्त कर लगा दिया है जो आने वाले कुछ दिनों से प्रभावी होंगे। इसके अलावा ट्रंप सरकार ने ईरान से तेल आयात करने पर भी पाबंदी लगाने की चेतावनी दी है। नवंबर तक ऐसा न करने पर तेहरान से तेल आयात करने वाले देशों को अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है। भारत पहले ही ऐसा करने से इनकार कर चुका है। इसके अलावा भारत-रूस रक्षा संबंध भी ट्रंप सरकार को भा नहीं रहा है। इस सबके बीच निक्की हेली भारत की यात्रा पर आई हैं। उन्होंने कहा कि उनके दौरे से दोनों देशों के संबंधों में और मजबूती आएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App