संयुक्त किसान मोर्चा का भारत बंद आज

संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार 27 सितंबर के भारत बंद को लेकर खासी तैयारी की है।

अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते किसान। फाइल फोटो।

संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार 27 सितंबर के भारत बंद को लेकर खासी तैयारी की है। आसपास के इलाकों से किसानों का रविवार देर शाम तक सीमाओं पर पहुंचना जारी रहा। बंद को कई गैर-राजग दलों ने समर्थन दिया है। इनमें कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी, तेलुगु देशम पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, वाम दलों और स्वराज इंडिया शामिल हैं।

दूसरी ओर दिल्ली पुलिस ने कहा कि किसान मोर्चे के ‘भारत बंद’ के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर सुरक्षा का पुख्ता बंदोबस्त किया गया है। आवाजाही को बाधित नहीं होने दिया जाएगा।मोर्चे की ओर से बलबीर सिंह राजेवाल, डॉ दर्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, हन्नान मोल्लाह, शिवकुमार शर्मा (कक्का जी) व योगेंद्र यादव की ओर से दावा किया गया है कि किसानों, खेतिहर मजदूरों, संगठित और असंगठित श्रमिकों, कर्मचारियों, महिलाओं, युवाओं, छात्रों, शिक्षकों और अन्य वर्गों के लगभग 100 संगठनों के साथ-साथ विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिष्ठित नागरिकों ने बंद का समर्थन किया है।
किसान समूहों ने भारत बंद को सही ठहराते हुए आरोप लगाया है कि नए कृषि कानून मंडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) खरीद प्रणाली को समाप्त कर देंगे और किसानों को बड़े कॉरपोरेट की दया पर छोड़ देंगे। वहीं सरकार ने इन आशंकाओं को गलत बताते हुए खारिज कर दिया है और कहा है कि इन कदमों से किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलेगी।

किसान मोर्चा ने रविवार को सभी सामाजिक संगठनों, ट्रेड यूनियनों सहित आम जनता से समर्थन की अपील की है। बंद के दौरान सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक देशभर में सब कुछ बंद किए जाने की अपील किसानों ने की है। सार्वजनिक व निजी यातायात को भी रोकने का कार्यक्रम है। इस दौरान सभी सरकारी और निजी दफ्तर, शिक्षण और अन्य संस्थान, दुकानें, उद्योग और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहने का दावा किया गया है। हालांकि सभी आपातकालीन व आवश्यक सेवाएं जैसे अस्पताल, दवा की दुकानें, राहत व बचाव कार्य और आपातकाल में फंसे लोगों को इस बंद के बाहर रखा गया है। रविवार को किसानों के आंदोलन की अगुआई कर रहे 40 से अधिक कृषि संगठनों के संयुक्त किसान मोर्चा ने आम लोगों से बंद में शामिल होने की अपील की है।

इस बीच कांग्रेस ने रविवार को अपने सभी कार्यकर्ताओं, प्रदेश इकाई प्रमुखों और पार्टी से जुड़े संगठनों के प्रमुखों को भारत बंद में भाग लेने के लिए कहा। कांग्रेस महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस और उसके कार्यकर्ता सोमवार को शांतिपूर्ण भारत बंद को अपना पूरा समर्थन देंगे। उन्होंने ट्वीट किया कि हम किसानों के अधिकारों में विश्वास करते हैं और काले कृषि कानूनों के खिलाफ उनकी लड़ाई में हम उनके साथ खड़े रहेंगे।उधर, पुलिस का कहना है कि बंद के मद्देनजर सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। अधिकारी ने कहा कि शहर की सीमाओं पर तीन जगह प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों में से किसी को दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट