ताज़ा खबर
 

नहीं रहीं केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत की बेटी, पड़ा दिल का दौरा, कोरोना के बाद करा रही थीं इलाज

योगिता सोलंकी का इलाज मेदांता अस्पताल में चल रहा था। उज्जैन में उनका अंतिम संस्कार करवाया जाएगा। योगिता थावरचंद गहलोत की एकलौती बेटी थी।

corona,covid-19 थावरचंद गहलोत की बेटी योगिता सोलंकी का निधन (फोटो -Twitter @khalsa_amandeep)

केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत की बेटी योगिता सोलंकी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वो कोरोना संक्रमण के बाद अपना इलाज करवा रही थी। उनका इलाज मेदांता अस्पताल में चल रहा था। उज्जैन में उनका अंतिम संस्कार करवाया जाएगा। योगिता थावरचंद गहलोत की एकलौती बेटी थी।

थावरचंद गहलोत की बेटी के निधन पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुख व्यक्त किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि आदरणीय साथी थावरचंद गहलोत जी की सुपुत्री और आलोट के पूर्व विधायक श्री जितेंद्र गहलोत जी की बहन योगिता राजकुमार सोलंकी के निधन से अत्यंत दुःख हुआ। परिवार ने अपनी लाडली को खो दिया। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति और पिता व परिजनों को यह गहन पीड़ा सहने की शक्ति दें। ॐ शांति!

बताते चलें कि देश में कोरोना का कहर जारी है। हर दिन तीन हजार से अधिक लोगों की मौत हो रही है। देश में सोमवार को कोविड-19 के 3,68,147 नए मामले आए तथा 3417 और मरीजों की मौत हो गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 1,99,25,604 जबकि मृतक संख्या 2,18,959 हो गयी है।

देश में एक मई को संक्रमण के रिकॉर्ड 4,01,993 नए मामले आए थे वहीं दो मई को 3,92,488 मामले सामने आए। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 34,13,642 हो गयी है जो संक्रमण के कुल मामलों का 17.13 प्रतिशत है। वहीं कोविड-19 से ठीक होने की दर 81.77 प्रतिशत हो गयी है। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में 1,62,93,003 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि मृत्यु दर 1.10 प्रतिशत हैं।

देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी। वहीं कोविड-19 मरीजों की संख्या 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के आंकड़े को पार कर गई थी। इसके बाद 28 सितंबर को कोविड-19 के मामले 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख, 19 दिसंबर को एक करोड़ और 19 अप्रैल को कोविड-19 के मामले 1.5 करोड़ से अधिक हो गए थे।

Next Stories
1 बंगालः दल-बदल कर BJP में आने वाले ज्यादातर कैंडिडेट्स हारे, राजीव बनर्जी से लेकर रूद्रनील घोष को मिली मात
2 WhatsApp पर कहिये ‘नमस्ते’, चैट पर आएगी करीबी वैक्सीन सेंटर की जानकारी
3 असम के परिणामः जेल से जीत गए अखिल गोगोई, CAA पर केंद्र के खिलाफ उठाई थी आवाज़, UAPA के तहत हुए थे गिरफ्तार
ये पढ़ा क्या?
X