scorecardresearch

पोस्टर लगाकर घूम रहा था शख्स, पीएम मोदी से मिला दो, मुझे उनके पैसे देने हैं, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सुनाया पूरा किस्सा

हाल ही में क्वाड समिट के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई देशों के शीर्ष नेता जापान की राजधानी टोक्यो में एकत्र हुए थे। इस दौरान सीढ़ियों से उतरते हुए सभी नेताओं के साथ पीएम मोदी की एक तस्वीर सामने आई थी जिसमें पीएम मोदी सबसे आगे चल रहे थे। ये तस्वीर सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हुई थी।

PM-Modi
पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

पीएम नरेंद्र मोदी ने बतौर प्रधानमंत्री आठ साल पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने प्रधानमंत्री के व्यक्तित्व से जुड़ा एक किस्सा सुनाते हुए कहा कि पीएम मोदी काफी उदार स्वभाव के हैं। इसके अलावा उन्होंने एक अनसुना किस्सा भी सुनाया जो कि प्रधानमंत्री मोदी के स्वभाव को दर्शाता है।

पीएम मोदी ने की थी शख्स की मदद: एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान स्मृति ईरानी ने पूरा किस्सा सुनाते हुए बताया, “किसी दक्षिण भारतीय राज्य में सीएम का कॉम्प्लेक्स था जहां सारे मंत्री एक साथ इकट्ठा थे। वहां एक सज्जन बाहर रोड पर खड़े थे। जिन्हें देखकर नरेंद्र भाई ने अपनी गाड़ी रोकी और उन शख्स से पूछा कि यहां क्यों खड़े हो? क्या हुआ? जिसके जवाब में शख्स ने कहा कि वो गुजरात छुट्टी पर अपनी पत्नी के साथ आए थे।”

केंद्रीय मंत्री ने आगे किस्सा बताते हुए कहा कि गुजरात ट्रिप के दौरान उनकी पत्नी बीमार हो गयीं थीं और सिविल हॉस्पिटल में भर्ती थीं। उस समय उस शख्स के पास पैसे नहीं थे और नरेंद्र भाई ने उस शख्स से कहा था कि तुम चिंता मत करो अपनी पत्नी का इलाज कराओ, पैसे मैं दूंगा।

पोस्टर लगाकर की पीएम मोदी से मिलाने की गुजारिश: स्मृति ईरानी ने आगे बताया, “नरेंद्र भाई शायद इस बात को भूल भी गए होंगे क्योंकि उन्होंने कई सारे लोगों की मदद की है। पर जब वो उस दक्षिण भारतीय राज्य में पार्टी कैम्पेन करने के लिए गए थे तो उस सज्जन ने छोटे-छोटे पोस्टर लगाए थे। जिन पर लिखा था, “कोई मुझे नरेंद्र मोदी से मिलाने ले चलो। मुझे उनके पैसे लौटाने हैं, उन्होंने मेरी मदद की थी।”

स्मृति ईरानी ने बोला राहुल गांधी पर हमला: वहीं, दूसरी ओर शुक्रवार को हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा के चंबी मैदान में त्रिदेव सम्मेलन के दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि यहां की आवाज अमेठी तक पहुंचनी चाहिए। स्मृति ईरानी ने कहा कि यहां मौजूद लोगों की आवाज दिल्ली तक नहीं, अमेठी तक पहुंचनी चाहिए, क्योंकि अमेठी के युवराज ने राम को उनके निवास स्थान से वंचित रखा।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट