ताज़ा खबर
 

नौकरी छोड़ने वाले आईएएस पर केंद्रीय मंत्री का हमला, पूछा- आतंकियों से हमदर्दी तो सुरक्षा क्यों ली

फैजल ने 2010 में आईएएस परीक्षा में टॉप किया था हैं। शाह आईएएस बनने वाले पहले कश्मीरी हैं। हालांकि आईएएस फैसल ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह (फोटो सोर्स : ANI)

कश्मीर के पहले आईएएस बने शाह फैजल नौकरी से इस्तीफा चुके हैं। शाह अब राजनीति में दांव आजमाने जा रहे हैं। उनके इस्तीफे के बाद खबरें हैं कि वह नेशनल कॉन्फ्रेंस के साथ जुड़ेंगे और पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक, शाह कश्मीर से आगामी लोकसभा चुनाव में उतर सकते हैं। नौकरी से इस्तीफे को लेकर कई प्रतिक्रियाएं आईं। इस मामले में अब ताजा बयान केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह का आया है।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने शाह फैसल पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि, फैसल का इस्तीफा उनके इरादों में कमी दिखलाता है। जितेंद्र सिंह ने आगे कहा कि, अगर आपमें विश्वास है है तो आपको आतंकियों की निंदा करने के लिए तैयार रहना चाहिए। जितेंद्र सिंह ने कहा कि, एक ही समय पर ऐसा संभव नहीं कि आपको सुरक्षा भी मिले और आप आतंकी को आतंकी भी न कह पाएं। जितेंद्र सिंह ने आगे कहा कि लोगों ने भारत को एक सॉफ्ट टारगेट बना रखा है। यह सहिष्णु है और यहां हर किसी अभिव्यक्ति की भी आजादी है।

बता दें कि आईएएस शाह फैसल ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। शाह ने सोशल मीडिया पर पोस्ट के जरिए केंद्र सरकार को भी निशाना बनाया। शान ने लिखा था कि, ‘कश्मीर में जारी मौतों पर केंद्र सरकार की कोशिशों में गंभीरता नहीं नजर आती। शाह ने आगे लिखा था कि, करीब 20 करोड़ मुस्लिम हिंदूवादी ताकतों के हाथ में हैं’। फैजल का स्वागत करते हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर शाह का स्वागत किया। साथ ही कहा- शाह का इस्तीफा देना ब्यूरोक्रैसी के लिए नुकसानदेह है पर राजनीति के लिए फायदेमंद।

गौरतलब है कि, फैजल ने 2010 में आईएएस परीक्षा में टॉप किया था हैं। शाह आईएएस बनने वाले पहले कश्मीरी हैं। शाह फैजल पहले डॉक्टर थे। डॉक्टरी के पढ़ाई के बाद उन्होंने सिविल सर्विसेज की तैयारी की थी और परीक्षा टॉप की थी। इसके बाद वे अब राजनीति की ओर जा रहे हैं। जल्दी ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शाह खुद अपनी आगे की राजनीतिक पारी का ऐलान करेंगे।

Next Stories
1 सामान्य वर्ग को 10 प्रतशित आरक्षण वाले बिल को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, दी यह दलील
2 Namo ऐप से बिक गए मोदी ब्रांड के 5 करोड़ रुपये से ज्यादा के आइटम!
3 अयोध्या केस: कोर्टरूम में बोले मुस्लिम पक्ष के वकील- मी लॉर्ड! ऑर्डर में ना लिखें मेरा नाम
ये पढ़ा क्या?
X