ताज़ा खबर
 

प्रियंका नकली गांधी हैं, वे अपना नाम फिरोज प्रियंका कर लें, साध्वी निरंजन बोलीं- वे भगवा को नहीं समझ सकतीं

उन्होंने प्रियंका गांधी से पूछा कि जिन्होंने निर्दोष लोगों को पीटा और पुलिस पर पत्थर फेंके उन्हें सजा मिलनी चाहिए या नहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि "प्रियंका ने उन्हें भड़काया औऱ उन्हें सीएए के खिलाफ सड़कों पर निकलने के लिए कहा।"

लखनऊकेंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति (फोटो सोर्स- एएनआई)

यूपी के सीएम के भगवा कपड़े पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने मंगलवार को उनको नकली गांधी कहते हुए कहते हुए कहा कि वे भगवा को नहीं समझ सकती हैं और सुझाव दिया कि उन्हें अपना नाम फिरोज प्रियंका कर लेना चाहिए। एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा कि “प्रियंका गांधी भगवा को नहीं समझ सकती क्योंकि वह नकली गांधी हैं। उन्हें अपने नाम से गांधी शब्द हटा लेना चाहिए और इसे फिरोज प्रियंका में बदल देना चाहिए।”

कहा कि नकली लोग नकली की तरह हर चीज देखते हैं : उन्होंने यह भी कहा कि “प्रियंका को योगी आदित्यनाथ से समस्या है क्योंकि वह अपराधियों के खिलाफ तत्काल एक्शन लेते हैं। उन्हें सामने आना चाहिए और यह साफ करना चाहिए कि क्या दंगाइयों के पीछे उनका हाथ है।” उन्होंने कांग्रेस महासचिव को भगवा के बारे में और अधिक पढ़ने की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि ” जिस तरह उन्होंने योगी की आलोचना की है, वह दिखाता है कि जो लोग नकली नाम प्रयोग करते हैं, वह हर चीज को उसी तरह देखते हैं। भगवा ज्ञान और भाईचारे का प्रतीक है।”

Hindi News Today, 31 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

कांग्रेस नेता ने की थी सीएम की आलोचना : उन्होंने प्रियंका गांधी से पूछा कि जिन्होंने निर्दोष लोगों को पीटा और पुलिस पर पत्थर फेंके उन्हें सजा मिलनी चाहिए या नहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि “प्रियंका ने उन्हें भड़काया औऱ उन्हें सीएए के खिलाफ सड़कों पर निकलने के लिए कहा।” सोमवार को गांधी ने भगवा के साथ भारत के गहरे संबंध का हवाला देते हुए आदित्यनाथ की उनके ‘बदला’ की टिप्पणी पर आलोचना की।

कहा भगवा देश की आध्यात्मिक भावना से जुड़ा है : योगी जी भगवा पहनते हैं। यह उनका व्यक्तिगत नहीं है। भगवा इस देश की धर्म और आध्यात्मिक भावना से जुड़ा हुआ है। यह हिंदू धर्म का प्रतीक है। उन्हें धर्म का अनुशरण करना चाहिए। इस धर्म में बदला और हिंसा की कोई जगह नहीं है।

Next Stories
1 जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने भारत के 28वें सेना प्रमुख का कार्यभार संभाला
2 VIDEO: ‘समाज को लिंचिंग से भी फर्क नहीं पड़ रहा था, स्टूडेंट्स ने हमें जगाया है’, अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने CAA के खिलाफ छात्रों के आंदोलन का किया समर्थन
3 केरल विधानसभा में सीएए विरोधी प्रस्ताव पारित, सत्ताधारी दल के साथ विपक्ष यूडीएफ ने भी किया समर्थन
चुनावी चैलेंज
X