ताज़ा खबर
 

साध्वी निरंजन ज्योति पर Coronavirus प्रोटोकॉल तोड़ने का आरोप, अपनी गाड़ी के जरिए कानपुर से दिल्ली रवाना हुईं संक्रमित केंद्रीय मंत्री

आरोप लग रहे हैं कि केंद्रीय मंत्री अपना इलाज कराने के लिए दिल्ली एम्स अपने वाहन से गईं जबकि उनके लिए लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस की व्यवस्था की गई थी।

kanpur, sadhvi niranjan jyotiकेंद्रीय मंत्री ने खुद ट्वीट कर कोरोना पॉजीटिव होने की बात कही थी।

केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति पर कोविड-19 को लेकर बनाए गए जरुरी प्रोटोकॉल तोड़ने के आरोप लगे हैं। आरोप है कि केंद्रीय मंत्री शनिवार की सुबह अपने वाहन से दिल्ली गईं। दरअसल 28 नवंबर को साध्वी निरंजन ज्योति ने खुद ट्वीट कर अपने कोरोना पॉजीटिव होने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि ‘#COVID19 के लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया जिसमें मेरी #COVID19 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी सभी से अपील है कि विगत 10 दिनों में जो भी मेरे संपर्क में आए है, वह अपना कोरोना टेस्ट करवा लें। मेरे निकट संपर्क वाले लोग स्वयं को सेल्‍फ क्‍वारंटीन कर लें।’

अब यह आरोप लग रहे हैं कि केंद्रीय मंत्री अपना इलाज कराने के लिए दिल्ली एम्स अपने वाहन से गईं जबकि उनके लिए लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस की व्यवस्था की गई थी। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री के काफिले के साथ यह लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस भी गया था लेकिन वो अपने वाहन से ही गईं। इससे पहले शुक्रवार की देर रात साध्वी निरंजन ज्योति की आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी। कोरोना संक्रमित होने का पता चलने के बाद उन्हें हैलट के न्यूरो साइंसेज कोविड अस्पताल के आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया था। फेफड़ो में निमोनिया हो जाने की वजह से उनकी स्थिति बिगड़ने की आशंका भी थी। डॉक्टरों ने उन्हें सलाह भी दी थी कि वो निजी वाहन से कहीं ना जाएं लेकिन उन्होंने डॉक्टरों की सलाह नहीं मानी।

यह भी बताया जा रहा है कि चिकित्सकों ने एसपीजीआई में केंद्रीय मंत्री के लिए बेड की भी बात की थी। लेकिन केंद्रीय मंत्री ने जब एम्स जाने की इच्छा जताई तब एंबुलेंस का इंतजाम किया गया लेकिन उन्होंने अपने निजी वाहन से दिल्ली जाने की बात कही।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी केंद्रीय मंत्री से बातचीत की है और उनका हालचाल जाना है। इधर केंद्रीय मंत्री के कोरोना पॉजीटिव आने के बाद मूसानगर स्थित अच्युत ब्रह्मधाम अखंड परम धाम आश्रम को सैनिटाइज करवाया गया है। इसके बाद आश्रम में संत व सुरक्षा कर्मी समेत 22 लोगों के सैंपल लिए गए है। इन सभी लोगों से खुद को क्वारन्टीन करने के लिए भी कहा गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘बेवजह’ के खर्चो में करें कटौती- बीमा कंपनियों को केंद्र की सलाह
2 वादा था किसानों की आय दोगुनी करने का, पर मोदी सरकार ने बढ़ाई अदानी-अंबानी की! राहुल का निशाना, बोले- वो क्या खाक हल निकालेंगे?
3 भारत और रूस की सैटेलाइट्स टकराने से बाल-बाल बचीं, विदेशी Kanopus-V के बेहद नजदीक चला गया था ISRO का Cartosat-2F, जानें कैसे
ये पढ़ा क्या ?
X