ताज़ा खबर
 

मोदी के मंत्री ने कहा किसान आंदोलन के पीछे चीन, पाक, शिवसेना नेता का जवाब- तुरंत सर्जिकल स्ट्राइक कर देनी चाहिए

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी (DSGMC) ने भी दानवे के बयान की आलोचना की। कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने दानवे के बयान को शर्मनाक करार दिया।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: December 10, 2020 3:24 PM
Sanjay Raut, RaoSaheb Danveशिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने केंद्रीय मंत्री दानवे के बयान पर किया पलटवार।

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के तेज होते प्रदर्शनों के बीच अब केंद्र सरकार भी झुकने के लिए तैयार नहीं है। जहां सोशल मीडिया पर पहले ही किसान आंदोलनों में खालिस्तान समर्थकों के शामिल होने की आशंका जताई जाती रही है। वहीं अब भाजपा के केंद्रीय मंत्री के बयान ने विवाद पैदा कर दिया है। दरअसल, महाराष्ट्र के नेता राव साहब दानवे ने किसान आंदोलन के पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ बताया है। हालांकि, इस पर शिवसेना ने पलटवार किया और कहा कि अगर किसान प्रदर्शन के बारे में ऐसी कोई जानकारी सरकार के पास है, तो उसे तुरंत चीन और पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक करनी चाहिए।

शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने केंद्रीय मंत्री को घेरते हुए कहा, “अगर उनके (राव साहब) पास ऐसी जानकारी है कि किसान आंदोलन के पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है, तो रक्षा मंत्री को तुरंत चीन और पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक का आदेश दे देना चाहिए। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और सशस्त्र बलों के प्रमुखों को इस मुद्दे पर तुरंत गंभीरता से चर्चा करनी चाहिए।”

इस बीच दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी (DSGMC) ने भी दानवे के बयान की आलोचना की। कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने दानवे के बयान को शर्मनाक करार दिया और कहा कि कई मंत्री और प्रवक्ता काफी पहले से ऐसे आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान लगातार शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं, जबकि सरकार उन्हें न्याय दिलाने में नाकाम रही है। किसान खुद के लिए लड़ते हैं और देश के लिए मरते हैं, खाना उगाते हैं और उनके बच्चे खुद देश के लिए शहीद होते हैं। उन्हें देशविरोधी की तरह दिखाने की कोशिश न की जाए।

क्या कहा था दानवे ने?: महाराष्ट्र के औरंगाबाद में स्थित जालना के एक गांव में प्राथमिक आरोग्य केंद्र के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे दानवे ने भाषण के दौरान कहा कि दिल्ली के पास चल रहे किसान आंदोलन में पाकिस्तान और चीन का हाथ है। उन्होंने कहा, ‘जो आंदोलन चल रहा है, वह किसानों का नहीं है। इसके पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है। इस देश में मुसलमानों को पहले भड़काया गया। (उन्हें) क्या कहा गया? एनआरसी आ रहा है, सीएए आ रहा है और छह माह में मुसलमानों को इस देश को छोड़ना होगा। क्या एक भी मुस्लिम ने देश छोड़ा?”

दानवे ने आगे कहा था, “वे प्रयास सफल नहीं हुए और अब किसानों को बताया जा रहा है कि उन्हें नुकसान सहना पड़ेगा। यह दूसरे देशों की साजिश है।” दानवे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों के प्रधानमंत्री हैं और उनका कोई भी निर्णय किसानों के खिलाफ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ह योजनाएं दिखाती हैं कि वह किसानों के लिए पैसे खर्च करने के लिए तैयार है, पर बाकियों को ये अच्छा नहीं लग रहा।

‘भाजपा नेताओं को होश नहीं कि वे क्या बोल रहे हैं’: इससे पहले किसानों के विरोध प्रदर्शन के पीछे विदेशी ताकतों के हाथ होने की बात पर शिवसेना नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री चुटकी लेते हुए शिवसेना प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत ने कहा कि महाराष्ट्र में सत्ता गंवाने के कारण भाजपा नेता अपने होश में नहीं हैं। उन्हें पता ही नहीं है कि वे क्या बोल रहे हैं।

Next Stories
1 रवीश कुमार का पोस्ट, सरकार का प्रस्ताव ठुकराने वाले अंबानी, अडाणी से लड़ पाएंगे? लोगों ने किया रिएक्ट, कांच के बोतल में मनीप्लांट लगाने वाले कृषि कानून पर दे रहे ज्ञान
2 Kerala Lottery Sthree Sakthi SS-239 Results: लॉटरी का रिजल्ट जारी, इस टिकट नंबर ने जीता 75 लाख का इनाम
3 पश्चिम बंगाल में टीएमसी बीजेपी में तनातनी, लाठी-डंडा ले जेपी नड्डा के पास पहुंच गए उपद्रवी, काफिले पर पत्थरबाजी
यह पढ़ा क्या?
X