ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्री रामदास अठावले ने क्रिकेट में SC/ST के लिए मांगा 25% आरक्षण

चैम्पियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम की हार पर बोलते हुए रामदास अठावले ने कप्तान विराट कोहली और युवराज सिंह पर फिक्सिंग के गंभीर आरोप लगाते हुए जांच करवाने की बात कही।

Author Updated: July 3, 2017 4:37 PM
पीएम नरेंद्र मोदी के साथ सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्री रामदास अठावले।

नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के संस्थापक रामदास अठावले ने अपनी ही सरकार से मांग की है कि क्रिकेट में अनुसूचित जाति और जनजाति वालों को 25 प्रतिशत आरक्षण मिलना चाहिए। सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण विभाग के राज्य मंत्री रामदास अठावले ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौराने ये मांग रखी। चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान के हाथों 180 रनों की मिली करारी हार से निराश अठावले ने कहा कि एससी/एसटी को आरक्षण मिलने से एक मजबूत टीम का निर्माण होगा। मीडिया से बात करते हुए अठावले ने कहा कि भारतीय टीम इस वक्त अच्छा नहीं खेल रही है, इसीलिए मैंने रिजर्वेशन की मांग की है। विनोद कांबली के बाद हमारे समाज का कोई भी खिलाड़ी टीम में नहीं आया। अठावले ने आगे कहा कि भारत सरकार को क्रिकेट की बेहतरी के लिए इस पहलू पर गौर करना चाहिए।

 

आपको बता दें कि चैम्पियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम की हार पर बोलते हुए रामदास अठावले ने कप्तान विराट कोहली और युवराज सिंह पर फिक्सिंग के गंभीर आरोप लगाते हुए जांच करवाने की बात तक कह दी थी। अठावले ने कहा था- ‘कोच अनिल कुंबले, कोहली और युवराज सिंह एवं बाकी खिलाड़ियों ने पूरे टूर्नमेंट में शानदार बल्लेबाजी की थी। इन जैसे शानदार खिलाड़ियों के रहते हुए हम पाकिस्तान जैसी टीम से कैसे हार सकते हैं?’ अठावले ने आगे कहा, ‘उन्होंने टूर्नमेंट में कई शतक जड़े। फाइनल में उन्हें क्या हो गया था। मंत्री ने कहा, ऐसा लगता है कि यह मैच फिक्स था। मैं इसकी जांच की मांग करता हूं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने पौधारोपण के लिए मध्य प्रदेश के सीएम की तारीफ, यूजर्स ने पकड़ी गलती
2 26 सप्ताह की प्रेग्नेंट महिला को मिली अबॉर्शन कराने की इजाजत, जानिए क्या है वजह
3 भीड़ द्वारा हत्या को धर्म विशेष से जोड़ने पर भड़के परेश रावल, कहा- आतंकियों का कोई मजहब नहीं होता, लेकिन लिंचिंग मॉब का धर्म होता है