ताज़ा खबर
 

‘गो कोरोना, गो’ नारा देने वाले केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले निकले COVID19 पॉजिटिव, हॉस्पिटल में भर्ती

यह बात उनके दफ्तर की ओर से मंगलवार को पुष्ट की गई।

COVID19, Coronavirus, Ramdas Athawale, Union Ministerकेंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RIP) चीफ रामदास अठावले। (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RIP) चीफ रामदास अठावले COVID-19 संक्रमित पाए गए हैं। यह बात उनके दफ्तर की ओर से मंगलवार को पुष्ट की गई। वह फिलहाल दक्षिण मुंबई स्थित बॉम्बे हॉस्पिटल में ऐहतियाती तौर पर भर्ती हो गए हैं। सोमवार को अठावले ने एक्ट्रेस पायल घोष को RPI नेताओं की मौजूदगी में पार्टी में शामिल कराया था।

बता दें उठावले ने ही ‘गो कोरोना, गो’ नारा दिया था, जो बाद में सोशल मीडिया सेंसेशन बन गया था। फरवरी, 2020 में उनका एक वीडियो सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर खूब वायरल हुआ था। इस क्लिप में उस दौरान उनके साथ एक चीनी राजदूत और कुछ बौध भिक्षु भी थे। वे भी उनके साथ गो कोरोना, गो नारा लगाते दिख रहे थे।

वह वीडियो मुंबई के Gateway of India का था। जानकारी के मुताबिक, वहां उस दौरान कोरोना वायरस के फैलाव को काबू करने को लेकर एक प्रार्थना सभा हुई थी, तभी अठावले ने वह नारा दिया था।

60 साल के अठावले संसद के उच्च सदन राज्य सभा के सदस्य हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में केंद्रीय राज्य सामाजिक न्याय मंत्री हैं। उनके एक सहयोगी के हवाले से समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि मंत्री को डायबिटीज भी है।

एमएसआरटीसी के 105 बसकर्मी भी संक्रमितः मुंबई में इस माह की शुरुआत में बेस्ट बसों में तैनात किए गए एमएसआरटीसी के सांगली प्रभाग के कम से कम 105 बस चालक एवं परिचालक सांगली लौटने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

बृहन्मुंबई विद्युत आपूर्ति एवं परिवहन (बेस्ट) ने महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में यात्रियों की परेशानियां कम करने के लिए महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) की बसों, बस चालकों एवं परिचालकों की सेवाएं ली थीं।

अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में एमएसआरटीसी के सांगली प्रभाग से करीब 400 बस चालकों एवं परिचालकों और 100 बसों को मुंबई भेजा गया था। एमएसआरटीसी के सांगली प्रभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘इन 400 कर्मियों में से 105 बस चालक एवं परिचालक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इन सभी कर्मियों के अक्टूबर में लौटने के बाद उनकी एंटीजन जांच की गई थी।’’

अधिकारियों ने बताया कि संक्रमित पाए गए कर्मियों को सांगली में विभिन्न कोविड-19 केंद्रों में भेजा गया है। कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए एक बस चालक ने कहा, ‘‘दो दिन तक हमें सड़क पर ही सोना पड़ा, क्योंकि डिपो में विश्राम गृह नहीं थे।’’ (भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चांद पर मिला पानी! चंद्रयान-1 की खोज के 11 साल बाद NASA के वैज्ञानिकों को मिले अहम सबूत
2 हाथरस गैंगरेप कांडः इलाहाबाद HC करेगा CBI जांच की निगरानी- बोला SC, पर केस ट्रांसफर करने पर फिलहाल फैसला नहीं
3 BJP नेता खुशबू सुंदर पुलिस हिरासत में, VCK चीफ के महिलाओं पर दिए विवादित बयान के खिलाफ करने जा रही थीं प्रदर्शन
यह पढ़ा क्या?
X