ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री को उन्‍हीं के सहयोगी का जवाब- कोई संविधान बदलने की कोशिश करेगा तो हम उसे बदल देंगे

रामदास अठावले ने कहा कि 'भारतीय संविधान को बदलना मुमकिन नहीं हैं और वे ऐसा किसी को करने भी नहीं देंगे।'

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले (Photo- PTI/File)

जागृति काटकर

केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े द्वारा भारतीय संविधान पर दिए गए विवादित बयान पर उनके साथी केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि जो भी संविधान को बदलने की बात करेगा हम उसे ही बदल देंगे। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले ने रविवार को कहा कि भारतीय संविधान को बदलना मुमकिन नहीं हैं और वे ऐसा किसी को करने भी नहीं देंगे। मीडिया से बातचीत करते हुए अठावले ने बहुत ही गुस्से में कहा “अगर कोई संविधान को बदलने की कोशिश करता है तो हम उसे ही बदल देंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संविधान को एक पवित्र किताब मानते हैं और मैं बीजेपी से अपील करता हूं कि संविधान पर दिए अनंत हेगड़े द्वारा दिए गए उनके बयान को लेकर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।”

बता दें कि पिछले हफ्ते कर्नाटका के कोप्पल जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अनंत हेगड़ ने कहा था कि ” कुछ लोग कहते हैं कि संविधान धर्मनिरपेक्ष शब्द का उल्लेख है, तो क्या आप इससे सहमत हैं। हम इसका सम्मान करते हैं लेकिन यह आने वाले कुछ समय में बदल जाएगा। संविधान कई बार पहले भी बदला जा चुका है। हम यहां हैं और संविधान को बदलने के लिए आए हैं। हम इसे बदलेंगे।” इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि “जो लोग धर्मनिरपेक्ष और प्रगतिशील होने का दावा करते हैं, उन्‍हें अपने मां-बाप और उनके खून के बारे में जानकारी ही नहीं होती है। मुझे बहुत खुशी होगी यदि कोई व्‍यक्ति खुद की पहचान मुस्लिम, ईसाई, ब्राह्मण, लिंगायत या हिंदू के तौर पर करता है। इस तरह की पहचान से आत्‍मसम्‍मान हासिल होता है। समस्‍या तब उत्‍पन्‍न होती है जब कोई खुद को धर्मनिरपेक्ष कहता है।”

हेगड़े के इस बयान पर राजनीति गरमा गई थी, जिसके बाद गुरुवार को सांसद में हेगड़े ने अपने बयान पर माफी मांग ली थी। हेगड़े के बयान पर कर्नाटक के सीएम सिद्दरमैया ने उनकी कड़ी आलोचना की थी। सिद्दरमैया ने कहा था कि अनंत हेगड़े पंचायत पद के काबिल नहीं हैं। सिद्दरमैया के अलावा AIMIM के एक नेता ने हेगड़े की जीभ काटने वाले को एक करोड़ रुपए का इनाम देने की घोषणा कर दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App