ताज़ा खबर
 

BJP का महाजनसंपर्क अभियान: मिल्खा सिंह से मिले प्रकाश जावड़ेकर, पूरे परिवार को समझाया अनुच्छेद 370 हटाने का फायदा

एक दिन पहले ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल और वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे जगमोहन मल्होत्रा से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की थी।

Author चंडीगढ़ | Updated: September 4, 2019 3:17 PM
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह से मुलाकात करते हुए और उन्हें पुस्तक भेंट करते हुए। (फोटो सोर्स-https://twitter.com/PrakashJavdekar)

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए निरस्त करने के करीब एक महीने बाद बीजेपी ने महा जनसंपर्क अभियान की शुरुआत की है। इस कड़ी में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार (04 सितंबर) को फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह से पंचकुला स्थित उनके आवास पर जाकर मुलाकात की और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 और 35ए को निरस्त करने के फैसले के बारे में विस्तृत जानकारी दी और उन्हें बताया कि कैसे इस फैसले से देश और राज्य को फायदा पहुंचेगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर में हालात सामान्‍य हैं और वहां अब बहुत कम क्षेत्रों में पाबंदी लगी है। बतौर मंत्री जम्‍मू-कश्‍मीर में केवल 13 थाना क्षेत्रों में ही पाबंदी लगी हुई है।

जावड़ेकर ने मुलाकात के बाद खुद ट्वीट कर कहा, महा जनसंपर्क अभियान के दौरान आज श्री मिल्खा सिंह जी और उनके परिवार के सदस्यों से मुलाकात की व उनको श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा लिए गए एक ऐतिहासिक निर्णय, #Article370 और 35A को निरस्त करने के लाभों के बारे में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से एक पुस्तिका भेंट की।”

जावड़ेकर ने कहा, ‘कश्मीर का विकास हो और कश्मीर की जनता को उनके अधिकार मिले इसकी व्यवस्था हो गई है। इसलिए हम जन संपर्क और जन जागरण कार्यकर्म के तहत सभी वर्ग क्षेत्र के प्रमुख लोगो से मिल रहे है जो समाज में काम करते है, ये उद्योग परिवार भी है और समाजसेवी भी है।” इसके बाद जावड़ेकर ने पूर्व सेनाध्यक्ष रिटायर्ड जनरल वी पी मलिक से भी उनके आवास पर जाकर मुलाकात की और उन्हें भी इस बारे में सरकारी कदम से अवगत कराया।

केंद्रीय मंत्री ने चंडीगढ़ में प्रसिद्ध उद्योगपति और रोटरी इंटरनेशनल के पूर्व विश्व अध्यक्ष आर के साबू से भी मुलाकात की। बता दें कि एक दिन पहले ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल और वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे जगमोहन मल्होत्रा से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की थी। जगमोहन लंबे समय तक जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल रहे हैं और वहां की हालात से वाकिफ हैं।

जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तब नाराज जगमोहन ने जम्मू-कश्मीर का राज्यपाल रहते हुए कड़क पत्र लिखा था और सरकार को लचर रुख अख्तियार करने पर आगाह किया था। 8 अप्रैल 1989 को जगमोहन ने कश्मीर मसले पर केंद्र सरकार को लिखे पत्र में कहा था, “आज कोई कदम उठाना समय पर किया गया काम हो सकता है, लेकिन कल पर टालना बहुत देर हो जाएगी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिग्विजय को ‘ब्लैकमेलर’ बताने वाले मंत्री के साथ कमलनाथ ने बंद दरवाजे के पीछे की मीटिंग!
2 J&K: 13 साल का पत्थरबाज ‘छोटा डॉन’ शिकंजे में, इन हरकतों की वजह से घाटी में हो चला था कुख्यात!
3 उत्तर प्रदेश में महंगी हुई बिजली, योगी सरकार के मंत्री श्रीकांत शर्मा बोले- यह सपा और बसपा का पाप