ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने NHAI ब्यूरोक्रेसी को बता दिया-नालायक, निकम्मी और भ्रष्ट, जानें क्या है वजह

गडकरी ने कहा कि NHAI में कई विकृत विचारधारा वाले लोग हैं और ये 12-13 साल से चिपके हुए हैं। यही लोग नए लोगों को गाइड करते हैं। एनएचआई को रिफॉर्म करने की जरूरत है।

NITIN GADKARI, NHAI,केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी। (फाइल फोटो)

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने NHAI (National Highway Authority of India) की ब्यूरोक्रेसी के खिलाफ जमकर नाराजगी और गुस्सा जाहिर किया है। दरअसल नितिन गडकरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दिल्ली के द्वारका में एनएचएआई की बिल्डिंग का उद्घाटन किया। इस बिल्डिंग को बनने में 9 साल की देरी हुई, जिसके चलते नितिन गडकरी ने इस देरी के लिए जिम्मेदार एनएचएआई के अधिकारियों को भ्रष्ट और नालायक तक बता दिया।

नितिन गडकरी ने कहा कि इस बिल्डिंग को बनाने का फैसला 2008 में किया गया था और 2011 में इसके लिए टेंडर जारी किया गया। इसके बाद 250 करोड़ रुपए के इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में 9 साल, दो सरकारें और 8 चेयरमैन लगे। नितिन गडकरी ने तंज कसते हुए NHAI के मौजूदा चेयरमैन से कहा कि ‘अगर संभव हुआ तो उन सब सीजीएम और जीएम की फोटो, जो इस देरी के लिए जिम्मेदार हैं, इस ऑफिस में लगवा देना।’

गडकरी ने ये भी कहा कि दिल्ली-मुंबई हाइवे का काम हम तीन साल में पूरा करेंगे और इसका बजट 80 हजार से एक लाख करोड़ रुपए है जबकि 250 करोड़ के प्रोजेक्ट में 9 साल लगे!

गडकरी ने कहा कि NHAI में कई विकृत विचारधारा वाले लोग हैं और ये 12-13 साल से चिपके हुए हैं। यही लोग नए लोगों को गाइड करते हैं। एनएचआई को रिफॉर्म करने की जरूरत है। आईआईटी के इंजीनियरों को हम रख नहीं पाते और राज्य सरकारों में जो लोग काम के नहीं होते उन्हें बड़े पदों पर बैठा दिया जाता है।

नितिन गडकरी ने कहा कि जो लोग काम नहीं करते हैं, उनके खिलाफ कभी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। ये लोग मंत्रालय की बात भी नहीं सुनते हैं। गडकरी ने कहा कि ये लोग निकम्मे और नालायक हैं। गडकरी ने ये भी कहा कि वह निकम्मे अफसरों की धुलाई करेंगे और उनकी छुट्टी करेंगे। जिससे NHAI की सफाई हो सके।

एनएचएआई के पूर्व प्रमुख विजय छिब्बर ने भी नितिन गडकरी की बात से सहमति जतायी। छिब्बर ने कहा कि “वह NHAI की जो आलोचना कर रहे हैं, वह सही है। मैंने खुद यह अनुभव किया है। एक बिल्डिंग को पूरा करने में एक दशक से ज्यादा का वक्त क्यों लगना चाहिए?”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ये दशानन की पार्टी है, इन्होंने बिहार में सत्ता का अपहरण किया है, बोले कांग्रेस प्रवक्ता तो गौरव भाटिया ने दिखाया आइना
2 पुलिस की पिटाई से फेफड़े की झिल्ली फट गई थी, सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने बताई आपबीती
3 पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी, उत्तर-मध्य भारत में बढ़ेगी ठंड, बारिश में डूबा दक्षिण भारत
ये पढ़ा क्या?
X