‘…तो थप्पड़ मार देता’, एक ही मंच पर दिखे उद्धव ठाकरे और उनको खरी-खोटी सुनाने वाले केंद्रीय मंत्री नारायण राणे

कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने’ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि बाला साहब ठाकरे को झूठ बोलना कतई पसंद नहीं था और वे अपने सामने झूठ बोलने वाले को खड़ा नहीं होने दिया करते थे।

पिछले दिनों महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में गिरफ्तार हुए केंद्रीय मंत्री नारायण शनिवार को एक कार्यक्रम में उनके साथ नजर आए। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पिछले दिनों महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को खरी खोटी सुनाने वाले और उन्हें थप्पड़ मारने तक की बात कहने वाले केंद्रीय मंत्री नारायण राणे शनिवार को सिंधुदुर्ग जिले में एक हवाई अड्डे के उद्घाटन के दौरान उनके साथ मंच साझा करते नजर आए। लेकिन इस दौरान भी दोनों ने एक दूसरे के ऊपर शब्दभेदी बाण छोड़े। 

शिवसेना छोड़ने के बाद करीब 16 सालों के बाद उद्धव ठाकरे के साथ मंच पर नजर आने वाले केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने सिंधुदुर्ग में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि 1990 में पहली बार यहां से विधायक चुने जाने के बाद उन्होंने कई सारे काम किए। राणे ने कहा कि शिवसेना संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे के निर्देशों के बाद ही उन्हें सिंधुदुर्ग जिले का जिम्मा दिया गया था। उन्हीं के प्रयासों के कारण कोंकण क्षेत्र में बुनियादी ढ़ांचे को खड़ा किया गया।

इस दौरान नारायण राणे ने यह भी कहा कि जिले में अधिकांश मूलभूत सुविधाओं पर काम उन्हीं की वजह से हुआ है। इसके अलावा उन्होंने कार्यक्रम के दौरान ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि बाला साहब ठाकरे को झूठ बोलना कतई पसंद नहीं था और वे अपने सामने झूठ बोलने वाले को खड़ा नहीं होने दिया करते थे। राणे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से यह भी कहा कि आप किसे अपने आस-पास रखना चाहते हैं यह आपकी पसंद है। लेकिन आपको जो जानकारी मिलती है, वह सही नहीं है।  

नारायण राणे के इस जुबानी हमले पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी पलटवार किया। कार्यक्रम के दौरान ही नारायण राणे ने कहा कि हां बालासाहेब ठाकरे को झूठ बोलना पसंद नहीं था और उन्होंने कई बार ऐसे लोगों को शिवसेना से बाहर भी किया। वे कहते थे कि सच भले ही कड़वा हो लेकिन उसे कहो. इसके अलावा ठाकरे ने तंज कसते हुए यह भी कहा कि मेरी जानकारी के मुताबिक सिंधुदुर्ग के किले का निर्माण शिवाजी महाराज ने किया था, या कोई ये कहेगा कि इसे मैंने बनाया। 

गौरतलब है कि पिछले दिनों महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि यह शर्मनाक है कि मुख्यमंत्री को यह नहीं पता कि आजादी को कितने साल हुए हैं। अगर मैं वहां होता तो उन्हें एक जोरदार थप्पड़ मारता। नारायण राणे की इस टिप्पणी के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। उस दौरान शिवसेना कार्यकर्ताओं ने राज्यभर में नारायण राणे के खिलाफ प्रदर्शन किए थे   

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट