ताज़ा खबर
 

बीच सड़क SDO की गाड़ी रुकवाकर केंद्रीय मंत्री ने हड़काया- ‘गलतफहमी में मत रहिए, सांसद हूं, घर तक पहुंच जाऊंगा’ 

गिरिराज सिंह को स्थानीय लोगों ने बाढ़ राहत में भेदभाव की शिकायत की थी, इसके बाद उन्होंने एसडीओ को बुलवाया था। इस दौरान एसडीओ वहां चुपचाप मंत्री की बात सुनते रहे और जी सर, जी सर करते रहे।

Author बेगूसराय | Updated: September 22, 2019 6:41 PM
अपने संसदीय क्षेत्र बेगूसराय में बाढ़ राहत कार्य का जायजा लेते केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह। (फोटो- https://www.facebook.com/girirajsinghpage/)

केंद्रीय मंत्री और बिहार के बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह ने बीच सड़क पर एसडीओ की गाड़ी रुकवाकर पब्लिक के सामने ही उन्हें खरी-खोटी सुनाई। मंत्री ने कहा, “गलतफहमी में मत रहिए। मैं यहां का सांसद हूं और आपके घर पर भी पहुंच सकता हूं।” दरअसल गिरिराज सिंह बाढ़ राहत कार्य में सरकारी अफसर द्वारा किए जा रहे भेदभाव के आरोपों से नाराज थे। लिहाजा, उन्होंने लोगों के सामने ही एसडीओ को बुलवाया और हड़काया। मंत्री ने उन पर तंज भी कसा, “ये तो बड़े अफसर हैं, बाबू हैं। गाड़ी से कैसे उतरेंगे।”

गिरिराज सिंह ने कहा, “आपकी जितनी तारीफ हमने रास्तेभर सुनी है, वो दोबारा न सुनें तो बेहतर होगा। आप सरकारी अफसर हैं, सारे लोग आपके लिए बराबर है। 2016 में यहां कैम्प लगा था अगर कैम्प नहीं लगा तो आपके घर पर आकर धरना दूंगा। पूरे पांच पंचायत हैं, जिसका वास इधर है, चास उधर है।” जब बीच में लोग बोलने लगे तो केंद्रीय मंत्री ने उन्हें टोका कि आप बात कर लीजिए यो मुझे बात कर लीजिए। मंत्री की डांट का यह वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर हो रहा है।

सिंह ने कहा, “गलतफहमी में मत रहिए। मैं जिस दिन तक सांसद रहूंगा, सांसद की भूमिका में रहूंगा और अपने को एसडीओ तक ही मानिए। हम जनप्रतिनिधि हैं। हमसे भी ज्यादा आपकी जिम्मेदारी बनती है। चारे की व्यवस्था कीजिए, डीएम से बात कीजिए। मैं चीफ सेक्रेटरी से बात करूंगा, सीएम से भी बात करूंगा।”

देखें वीडियो:


बता दें कि गिरिराज सिंह को स्थानीय लोगों ने बाढ़ राहत में भेदभाव की शिकायत की थी, इसके बाद उन्होंने एसडीओ को बुलवाया था। इस दौरान एसडीओ वहां चुपचाप मंत्री की बात सुनते रहे और जी सर, जी सर करते रहे। राज्य के उत्तरी क्षेत्र के कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं। इनमें बेगूसराय जिला भी शामिल है। सरकार ने बाढ़ और सुखाड़ प्रभावित इलाकों में राहत-कार्य की पर्याप्त व्यवस्था की है लेकिन उसकी बंदरबाट हो रही है। गिरिराज सिंह बेगूसराय से पहले नवादा के सांसद थे लेकिन भोला सिंह के निधन के बाद पार्टी ने उन्हें 2019 में बेगूसराय से उतारा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘इस्लामिक देशों में रहने वालों से ज्यादा खुशकिस्मत हैं भारत के मुसलमान’, दिग्गज पत्रकार की राय
2 VIDEO: एयरपोर्ट पर इमरान को रिसीव नहीं करने आया कोई यूएस अधिकारी! पाकिस्तानी पत्रकार ने मोदी से तुलना कर मारा तंज
3 बापू के मंत्र से बीजेपी से लड़ेगी कांग्रेस: खादी पहनने, नशा न करने और सामाजिक सद्भाव रखने वाले कैंडिडेट ढूंढ़ रही पार्टी