Union minister Gajendra Singh Shekhawat attends Pakistan National Day as a government representative at Pakistan high commission in New Delhi - पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रीय दिवस समारोह में शामिल हुए नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्री - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रीय दिवस समारोह में शामिल हुए नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्री

दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास पर शुक्रवार (23 मार्च) को आयोजित पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस समारोह में नरेंद्र मोदी सरकार के केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत शामिल हुए।

पाकिस्तान दिवस के समारोह में शामिल हुए केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत। (फोटो सोर्स- एएनआई)

दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास पर शुक्रवार (23 मार्च) को आयोजित पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस समारोह में नरेंद्र मोदी सरकार के केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत शामिल हुए। समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक गजेंद्र सिंह शेखावत इस समारोह में सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर गए थे। 23 मार्च को ‘लाहौर रिजोल्यूशन’ की याद में हर साल पाकिस्तान दिवस मनाया जाता है। लाहौर रिजोल्यूशन को पाकिस्तान रिजोल्यूशन के तौर पर भी जाना जाता है। इसे 1940 को पास किया गया था, जिसे मुसलमानों के लिए अलग देश पाकिस्तान बनने के रास्ते में मील का पत्थर माना जाता है। गजेंद्र सिंह शेखावत ऐसे वक्त में पाकिस्तान दिवस के समारोह में शामिल होने गए थे जब दोनों देशों के बीच संबंध सबसे तल्ख दौर से गुजर रहे हैं। पाकिस्तान की तरफ से आए दिन सीमा पर युद्ध विराम का उल्लंघन किया जा रहा है और भारतीय सेना उसका जवाब दे रही है।

हाल के हफ्तों में दोनों देशों ने एक-दूसरे के राजनयिक अधिकारियों को परेशान करने के आरोप भी लगाए थे और इससे चीजें और खराब हुई थीं। बता दें कि आजादी से पहले भारत में दो प्रमुख पार्टियां थीं जो देश को आजाद कराने की लड़ाई लड़ रही थीं। पहली कांग्रेस और दूसरी मुस्लिम लीग। मुस्लिम लीग के मोहम्मद अली जिन्ना मुसलमानों के लिए अलग देश बनाने की बात पर अड़े थे। जिन्ना की दलील थी कि अगर मुसलमानों के लिए अलग देश नहीं बनाया जाता है तो बहुसंख्यक हिन्दुओं के आगे एक ही देश में वे पिस कर रह जाएंगे।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी देश के बंटवारे के सख्त खिलाफ थे, लेकिन जिन्ना और मुस्लिम लीग के आगे उनकी एक न चली। आजादी के इतने वर्षों बाद भी पाकिस्तान और भारत के बीच संबंधों पर जमी बर्फ पिछल नहीं पाई है और वक्त के साथ यह और सख्त होती जा रही है। ऐसे में यह सवाल लाजमी है कि पाकिस्तान दिवस के समारोह में नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्री का जाना संबंधों को सुधारने की क्या भारत की एक ओर पहल है? फिलहाल इस बारे में खबर लिखे जाने तक सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App