ताज़ा खबर
 

गृह मंत्री अमित शाह को सीधे रिपोर्ट करेगी IB, ट्रांसफर-पोस्‍टिंग का काम नहीं रखा अपने पास

आवंटन पत्र के मुताबिक रेड्डी को महत्वपूर्ण डिविजन जैसे जम्मू-कश्मीर, नोर्थ-ईस्ट, केंद्र शासित प्रदेश, साइबर सुरक्षा और काउंटर रेडिकलाइजेशन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Author नई दिल्ली | June 20, 2019 12:45 PM
गृह मंत्री अमित शाह (Express Photo by Prem Nath Pandey)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार (18 जून, 2019) को एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए मंत्रालय के सभी 21 डिवीजनों को अपने दोनों राज्य मंत्रियों जी किशन रेड्डी और नित्यानंद राय को सौंप दिया। अब गृह मंत्रालय से जुड़े ज्यादातर काम दोनों राज्यमंत्री ही देखेंगे। गृह मंत्रालय की ओर से जारी कार्य आवंटन पत्र से इस बात की जानकारी मिली है। हालांकि इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) सीधे गृह मंत्री अमित शाह को रिपोर्ट करेगी।

आवंटन पत्र के मुताबिक रेड्डी को महत्वपूर्ण डिविजन जैसे जम्मू-कश्मीर, नोर्थ-ईस्ट, केंद्र शासित प्रदेश, साइबर सुरक्षा और काउंटर रेडिकलाइजेशन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। वहीं राय को सेंटर-स्टेट डिविजन, पुलिस-1 (जो आईपीएस अधिकारियों के ट्रांसफर पोस्टिंग को देखता है), फॉरेनर्स जैसे अन्य डिवीजन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। अमित शाह आईबी के अतिरिक्त कैबिनेट और राष्ट्रपति भवन से जुड़े सभी मामले देखेंगे।

खास बात है कि ऐसा पहली बार है जब पूर्वोत्तर और जम्मू-कश्मीर के मामलों को एक ही राज्य मंत्री के हवाले किया गया है। पिछली एनडीए सरकार में जूनियर मिनिस्टर किरण रिजिजू को पूर्वोत्तर डिवीजन और हंसराज अहीर को काउंटर रेडिकलाइजेशन और कश्मीर मामलों की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

एनडीए-2 में रिजिजू को युवा मामलों और खेल मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार दिया गया है जबकि अहीर इस बार चुनाव हार गए। अधिकारियों ने बताया कि विभागों के बंटवारे को गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को हरी झंडी दे दी। अधिकारी ने आगे कहा कि चल रहे संसद सत्र के कारण यह अनिवार्य था, जहां गृह मंत्रालय से संबंधित सवालों के जवाब के लिए दो कनिष्ठ मंत्रियों की आवश्यकता होगी।

अमित शाद द्वारा अपने कनिष्ठों को ये बंटवारे ऐसे समय में सौंपे गए जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी मंत्रियों से अपील करते हुए कहा कि वो अपने जूनियर और राज्य मंत्रियों को अधिक से अधिक काम दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App