ताज़ा खबर
 

विकसित देशों जैसे खराब स्थिति आने की सोच नहीं रहे, बल्कि बदतर हालात के लिए तैयार- कोरोना पर बोले स्वास्थ्य मंत्री

Corona Virus in India: अरूणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम के प्रतिनिधियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में हर्षवर्धन ने कोविड-19 से निपटने में सभी राज्यों के समर्पण की सराहना की।

Corona Virus, Covid-19, Corona Virus in Indiaकेंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उत्तर-पूर्वी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर-पूर्वी राज्यों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि हम अभी भी दूसरे विकसित देशों की तरह किसी खराब स्थिति के आने के बारे में नहीं सोच रहे, लेकिन हमने खराब से खराब स्थिति के लिए तैयारी की है। उन्होंने कहा कि देश में अभी कोरोना से मृत्यु दर 3.3 फीसदी पर बनी हुई है। यहां रिकवरी रेट यानी मरीजों के ठीक होने की दर बेहतर हुई है, जो कि अच्छी बात है। हालांकि, देश में पिछले तीन दिनों में संक्रमण के मामले दोगुने होने की रफ्तार 11 दिन है, जो कि पिछले सात दिनों से 9.9 दिन पर बनी हुई थी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 की जांच बढ़कर प्रतिदिन लगभग 95,000 हो गई है, जबकि 332 सरकारी और 121 निजी प्रयोगशालाओं में अब तक कुल 15 लाख 25 हजार 631 जांच हुई है।स्वास्थ्य मंत्री ने पूर्वोत्तर के राज्यों में कोविड-19 स्थिति और इसके प्रसार को रोकने के लिये उठाये गये कदमों की समीक्षा की। उन्होंने चबाने वाले तंबाकू का उपयोग रोकने और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने को निषिद्ध करने के लिये ठोस कदम उठाये जाने की जरूरत पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि इससे संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी। अरूणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम के प्रतिनिधियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में हर्षवर्धन ने कोविड-19 से निपटने में सभी राज्यों के समर्पण की सराहना की। बयान में हर्षवर्धन के हवाले से कहा गया है, ‘‘यह एक बड़ी राहत है और यह देखना बहुत सुखद है कि पूर्वोत्तर के ज्यादातर राज्यों में ‘ग्रीन जोन’ हैं। आज की तारीख में सिर्फ असम और त्रिपुरा में ही कोविड-19 के मामले रह गये हैं। अन्य सभी राज्य ग्रीन जोन में हैं। आइए हम ध्यान केंद्रित करें और ‘ऑरेंज जोन’ को ग्रीन जोन में तब्दील करने के लिये साथ मिल कर काम करें।’’

उन्होंने कुछ राज्यों में चबाने वाले तंबाकू का काफी मात्रा में उपभोग होने और सार्वजनिक स्थानों पर थूके जाने की समस्या के प्रति भी आगाह किया। हर्षवर्धन ने चबाने वाले तंबाकू के उपयोग को प्रतिबंधित करने वाले राज्यों की कोशिशों की सराहना करते हुए कहा, ‘‘इस दिशा में कठोर कदम उठाये जाने की जरूरत है।’’ स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड-19 की जांच के बारे में कहा, ‘‘देश में जांच बढ़ गई है और 332 सरकारी एवं 121 निजी प्रयोगशालाओं की बदौलत यह प्रतिदिन 95,000 हो गई है।

अभी तक कोविड-19 की 15 लाख 25 हजार 631 जांच हुई है।’’ शनिवार सुबह आठ बजे तक त्रिपुरा में 118, असम में 59, मेघालय में 12, मणिपुर में दो जबकि मिजोरम और अरूणाचल प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक-एक मामले सामने आये हैं। मेघालय और असम में अभी तक एक-एक मरीज की मौत हुई है।बयान में कहा गया है कि जिन राज्यों की अंतरराष्ट्रीय सीमाएं हैं, उन्हें सीमावर्ती इलाकों में प्रवेश स्थानों पर सभी लोगों की निगरानी के लिये उपयुक्त कदम उठाने की जरूरत है।

Coronavirus/COVID-19 और Lockdown से जुड़ी अन्य खबरें जानने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें: शराब पर टैक्स राज्यों के लिए क्यों है अहम? जानें, क्या है इसका अर्थशास्त्र और यूपी से तमिलनाडु तक किसे कितनी कमाईशराब से रोज 500 करोड़ की कमाई, केजरीवाल सरकार ने 70 फीसदी ‘स्पेशल कोरोना फीस’ लगाईलॉकडाउन के बाद मेट्रो और बसों में सफर पर तैयार हुईं गाइडलाइंस, जानें- किन नियमों का करना होगा पालनभारत में कोरोना मरीजों की संख्या 40 हजार के पार, वायरस से बचना है तो इन 5 बातों को बांध लीजिये गांठ…कोरोना से जंग में आयुर्वेद का सहारा, आयुर्वेदिक दवा के ट्रायल को मिली मंजूरी

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Vizag Gas Leak: कारखाने के आगे लाशें रख ग्रामीणों का हल्लाबोल! बोले- बंद करो एलजी पॉलीमर्स प्लांट
2 सूरत कमाने आया था नाबालिग, लॉकडाउन में फंसने पर ‘श्रमिक ट्रेन’ से लौट रहा था; पत्रकार ने पूछा सपना क्या है? बोला- बस घर जाना है…
3 हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने ली हंदवाड़ा हमले की जिम्मेदारी, रियाज नायकू की शोक सभा कर बोला सरगना- दिली सदमा हुआ
ये पढ़ा क्या?
X