ताज़ा खबर
 

देश को कब मिलेगी Coronavirus Vaccine? स्वास्थ्य मंत्री ने डिटेल में दिया पूरा अपडेट, जानें क्या बताया

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर बातचीत करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह सिर्फ दिल्ली सरकार की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि आम लोगों को भी इस महामारी के फैलने से रोकने में अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए।

coronavirus, covid 19केंद्रीय मंत्र ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए हर मुमकिन तैयारी की जा रही है।

देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस का प्रकोप एक बार फिर तेजी से बढ़ रहा है। सभी को इंतजार है कोरोना वैक्सीन की ताकि इस महामारी से लड़ने में मदद मिल सके। इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया है कि आखिर देश को कोरोना से लड़ने वाली वैक्सीन कब मिलेगी? ‘India Today’ से बातचीत करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि साल 2021 के शुरुआती तीन महीनों में देश को कोरोना वैक्सीन मिलेगी।

उन्होंने बताया कि दुनिया में कुल 250 वैक्सीन बन रही है। इनमें से 30 भारत की तरफ देख रहे हैं जबकि भारत में 5 वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन की क्षमता और सुरक्षा मोदी सरकार की प्राथमिकता है। डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि केंद्र सरकार इस महामारी की लगातार मॉनीटरिंग कर रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ाई अब ग्यारहवें महीने में पहुंच चुकी है। आम लोगों को और सभी सरकारों को इस बारे में बताया गया है कि वो कोरोना से कैसे लड़ें और 10 महीने से लगातार कोरोना को लेकर जो गाइलाइन्स और प्रोटोकॉल्स हैं उसकी मॉनीटरिंग की जा रही है…

कोरोना की वैक्सीन किसे सबसे पहले लगाई जाएगी? इस सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने बताया है कि वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मचारियों को लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हेल्थ वर्क्स का डेटा तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा फ्रंट लाइन वर्क्स, पुलिस, पैरामिलिट्री, वैसे लोग जो सैनिटाइजेशन के काम में शामिल हैं और जो लोग 65 साल के अधिक के उम्र के हैं उन्हें यह वैक्सीन पहले लगाई जाएगी। इसके बाद दूसरे चरण में उन लोगों को यह वैक्सीन दी जाएगी जिनकी उम्र 50 साल से ज्यादा है और जो Comorbidity के मरीज हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘हम देख रहे हैं कि स्थिति भयंकर से भयंकर होने के बावजूद बेहतर हुई है। इसी का परिणाम है कि बड़ी संख्या में लोग इस महामारी से ठीक भी हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में सबसे ज्यादा रिकवरी रेट भारत का है। लेकिन अभी भी कुछ शहर हमारे लिए चिंता का विषय जरुर बने हुए हैं क्योंकि अभी पिछले कुछ दिनों में वहां पर केस बढ़े हैं।’

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर बातचीत करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह सिर्फ दिल्ली सरकार की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि आम लोगों को भी इस महामारी के फैलने से रोकने में अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। उन्होंने कहा कि ‘कुछ शिक्षित लोगों की लापरवाही की वजह से दिल्ली के लोग इस वक्त इस हालात का सामना कर रहे हैं। RT-PCR टेस्ट की संख्या को बढ़ाया गया है। मोबाइल टेस्टिंग वैन्स लॉन्च किये गये हैं। हम इस महामारी को रोकने के लिए हर मुमकिन प्रयास कर रहे हैं।’

Next Stories
1 4000 करोड़ के पोंजी स्कैम में भाजपा नेता और पूर्व मंत्री गिरफ्तार
2 यूपी में टीचर ने महिला सहकर्मी को मारी गोली, आरोपी बोला-हमारे बीच थे संबंध, कर रही थी ब्लैकमेल
3 बोले BJP के गौरव भाटिया- आपके घर में कहते हैं सो जाओ, वरना इंडियन आर्मी आ जाएगी; PAK पैनलिस्ट का जवाब- मोदी आपकी फौज खत्म करा देगा
यह पढ़ा क्या?
X