ताज़ा खबर
 

Budget 2020 Income Tax Slab Analysis: आयकर छूट के 70 प्रावधान खत्म, 3 स्लैब बढ़ाए, जानें- डिटेल

Union Budget 2020: मोदी सरकार ने इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव करते हुए खासकर नौकरीपेशा वर्ग (सैलरीड क्लास) को साधने का प्रयास किया है। हालांकि नए इनकम टैक्स स्लैब के साथ शर्तें भी लागू हैं।

budget income tax live, budget income tax, budget income tax 2020, budget income tax 2020-20, budget income tax slab, budget income tax statement, budget income tax changes, budget income tax slab 2018-20, budget income tax 2018 19, budget income tax calculator, budget income protection, budget 2020 income tax changes, budget 2020 income tax slab, budget 2020 income tax rebate, budget 2020 income tax pdf, budget 2020 income tax rates, budget 2020 income tax for senior citizens, budget 2020 income tax india, budget 2020 income tax, Budget 2020-2021, Budget, Modi Government, Nirmala Sitharaman, Nirmala Sitharaman Budget Speech, बजट, बजट 2020-21, निर्मला सीतारमण, मोदी सरकार, बजट भाषणBudget 2020: मोदी सरकार ने 2020-21 के बजट में मिडिल क्लास को बड़ी राहत दी है। इनकम टैक्स का स्लैब बदल दिया है।

Budget 2020 Income Tax Slab: बजट 2020 में इनकम टैक्‍स स्‍लैब में बड़ा बदलाव हुआ है। तीन नए स्‍लैब बनाए गए हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2020-21 का बजट पेश करते हुए इनकम टैक्‍स से जुड़ा एक और बड़ा ऐलान क‍िया है। उन्‍होंने इनकम टैक्‍स कानून के तहत म‍िलने वाली छूट/कटौती के 70 प्रावधान खत्‍म करने की घोषणा की है। अब केवल 30 प्रावधानों के तहत ही इनकम टैक्‍स छूट क्‍लेम की जा सकेगी। क‍िन प्रावधानों को हटाया गया है और क‍िन्‍हें जारी रखा गया है, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है।

एक बड़ी बात यह भी है क‍ि करदाताओं को व‍िकल्‍प द‍िया गया है क‍ि वे नए टैक्‍स स्‍लैब या पुराने टैक्‍स स्‍लैब में से क‍िसी के भी आधार पर आयकर भर सकते हैं। उनका ज्‍यादा फायदा ज‍िसमें हो रहा हो, वे उस स्‍लैब के मुताब‍िक आईटीआर फाइल कर सकते हैं। अगर आप नए टैक्‍स स्‍लैब को चुनते हैं तो ऐसी व्‍यवस्‍था बनाई जाएगी क‍ि आपको आईटीआर फाइल करने या टैक्‍स भरने के ल‍िए एक्‍सपर्ट की मदद नहीं लेनी पड़े। आपका स्‍लैब कंप्‍यूटर के जर‍िए फॉर्म में पहले से भरा होगा।

नए स्लैब से टैक्स दिया तो LTC, HRA, स्टैंडर्ड डिडक्शन का नहीं मिलेगा फायदा

तीन नए स्‍लैब: व‍ित्‍त वर्ष 2019-20 के ल‍िए आयकर के चार स्‍लैब थे- 0, 5, 20 और 30 प्रत‍िशत के। 2020-21 के ल‍िए इसे बढ़ा कर सात कर द‍िया गया है। 10, 15 और 25 फीसदी वाले तीन स्‍लैब जोड़े गए हैं।

पांच लाख तक टैक्‍स जीरो: ढाई से पांच लाख की आमदनी को पहले की ही तरह पांच प्रत‍िशत के स्‍लैब में रखा गया है, लेक‍िन प्रभावी रूप से (ड‍िडक्‍शन आद‍ि एडजस्‍ट करने के बाद) पांच लाख तक की आमदनी पर टैक्‍स नहीं लगता है।

मिडिल क्लास को राहत: नए स्लैब के मुताबिक 5 लाख तक की आय वाले लोगों को कोई टैक्स नहीं देना होगा। जबकि 5 से 7.5 लाख तक की आय पर 10 प्रतिशत टैक्स देना होगा।

इसी तरह 7.5 से 10 लाख तक की आमदनी वाले लोगों को 15 प्रतिशत, 10 से 12.5 लाख की आय पर 20 प्रतिशत, 12.5 से 15 लाख तक की आय पर 25 प्रतिशत और 15 लाख से अधिक की आय पर 30 प्रतिशत टैक्स देना होगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पुराने टैक्स स्लैब के तहत अभी किसी व्यक्ति की आय 5 से 10 लाख रुपये के बीच है तो उसे 20 प्रतिशत टैक्स देना पड़ता है। इसी तरह 10 लाख से उपर की आय पर 30 प्रतिशत देना होता है। ऐसे में आम लोगों को राहत प्रदान करने के लिए नया स्लैब लाया गया है।

नए स्लैब में किसको कितना लाभ?: नए स्लैब के मुताबिक 5 से 7.5 लाख तक की आय वाले लोगों को 10 प्रतिशत टैक्स देना होगा, जो अभी तक 20 प्रतिशत था। इसी तरह 7.5 से 10 लाख तक की आय वाले लोगों को 20 की जगह 15 प्रतिशत, 10 से 12.5 लाख तक की आय पर 30 की जगह 20 प्रतिशत, 12.5 से 15 लाख तक की आय पर 30 की जगह 25 प्रतिशत टैक्स देना होगा।

नया टैक्स स्लैब होगा ऑप्शनल: नया इनकम टैक्स स्लैब ऑप्शनल होगा। अगर आपको नए स्लैब का लाभ लेना है तो पुराने स्लैब के तहत तमाम तरह के निवेश (इन्वेस्टमेंट) आदि पर मिलने वाली छूट के लाभ को छोड़ना होगा। अगर आप इन्वेस्टमेंट में छूट लेते हैं, तो टैक्स की पुरानी दर (ओल्ड स्लैब) ही मान्य होगी।

15 लाख आमदनी वालों को 78 हजार का फायदा: वित्त मंत्री ने कहा कि उदाहरण के तौर पर किसी व्यक्ति की सालाना आय 15 लाख रुपये है और वह किसी भी तरह की छूट का लाभ नहीं ले रहा है तो उसे नए स्लैब के तहत 1,95,000 रुपये टैक्स देना होगा। पुराने स्लैब के तहत उसे 2,73,000 रुपये देना पड़ता था।

70 तरह की छूट हुई खत्म: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अभी तक इनकम टैक्स एक्ट के तहत लोगों को 100 से ज्यादा तरह की छूट मिलती थी। इनमें से 70 तरह की छूट को खत्म कर दिया गया है। बाकी बची छूट की भी आने वाले दिनों में समीक्षा की जाएगी और  इस पर निर्णय लिया जाएगा।

बजट 2020 से जुड़े लाइव अपडेट्स, हाईलाइट्स, लाइव स्‍ट्रीम‍िंग न्‍यूज, इनकम टैक्‍स स्‍लैब अपडेट पढ़ें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Budget 2020 Speech: भारत बनेगा ‘उच्च शिक्षा के लिए पसंदीदा स्थल’, वित्तमंत्री बोलीं- टॉप संस्थानों में शुरू होगा ऑनलाइन प्रोग्राम
2 नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में केंद्रीय मंत्रियों ने किया भ्रष्टाचार? जानकारी सार्वज‍न‍िक करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस
3 Budget 2020 Speech: निर्मला सीतारमण ने तोड़ा लंबे बजट भाषण का 17 साल पुराना रिकॉर्ड, नॉन स्टॉप बोलीं 2 घंटे 40 मिनट!
IPL 2020 LIVE
X