ताज़ा खबर
 

फर्जी पासपोर्ट मामले में गैंगस्टर छोटा राजन को सात साल की जेल

एक विशेष अदालत ने आज गैंगस्टर छोटा राजन और तीन सेवानिवृत्त लोक सेवकों को फर्जी पासपोर्ट मामले में सात साल के कारावास की सजा सुनाई।

Author नई दिल्ली/ मुंबई | Updated: April 25, 2017 6:16 PM
छोटा राजन। (फाइल फोटो रॉयटर्स)

एक विशेष अदालत ने आज गैंगस्टर छोटा राजन और तीन सेवानिवृत्त लोक सेवकों को फर्जी पासपोर्ट मामले में सात साल के कारावास की सजा सुनाई। विशेष न्यायाधीश विजेंद्र कुमार गोयल ने राजन और अन्य को आईपीसी के तहत मूल्यवान प्रतिभूति का मिथ्या दस्तावेज रचने समेत अन्य अपराधों के लिए सजा सुनाई। इसके लिए अधिकतम आजीवन कारावास की सजा का प्रावधान है। राजन के अलावा जिन अन्य लोगों को दोषी ठहराया गया है उसमें तीन सेवानिवृत्त लोकसेवक–जयश्री दत्तात्रेय राहते, दीपक नटवरलाल शाह और ललिता लक्ष्मणन शामिल हैं। राजन फिलहाल यहां तिहाड़ जेल में बंद है। तीन अन्य लोग जमानत पर रिहा थे, उन्हें कल फैसला सुनाए जाने के बाद हिरासत में ले लिया गया।

अदालत ने 28 मार्च को मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। इसमें राजन ने कथित तौर पर तीन सरकारी अधिकारियों की मदद से मोहन कुमार के नाम पर जाली पासपोर्ट हासिल किया था। लक्ष्मणन ने अपने मामले में मुकदमा बेंगलुरू स्थानांतरित करने की मांग करते हुए उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था लेकिन याचिका नौ जनवरी को इस आधार पर खारिज कर दी गई थी कि यहां की जिला अदालत भी मामले में सुनवाई कर सकती है।
याचिका के लंबित रहने के दौरान उच्च न्यायालय ने मामले में निचली अदालत के फैसला सुनाने पर रोक लगा दी थी। हालांकि, उच्च न्यायालय ने बाद में याचिका खारिज कर दी।

चारों को आईपीसी की धारा 420 (छल), धारा 471 (जाली दस्तावेज का इस्तेमाल असली दस्तावेज के तौर पर करने), धारा 468 (धोखाधड़ी के उद्देश्य से जालसाजी, धारा 419 (प्रतिरूपण द्वारा छल) और धारा 120 बी (आपराधिक साजिश) और पासपोर्ट अधिनियम की धारा 12 के तहत दोषी ठहराया गया।

27 साल तक फरार रहने के बाद 55 वर्षीय राजन को स्वदेश लाया गया था ताकि वह दिल्ली और मुंबई में हत्या, जबरन वसूली और मादक पदार्थों की तस्करी के 70 से अधिक मामलों में मुकदमे का सामना कर सके। राजन को अक्तूबर 2015 में बाली में गिरफ्तार किए जाने के बाद भारत लाया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 DU और AMU की वेबसाइट पर लिखा- कश्मीर बनेगा पाकिस्तान
2 भड़के गौतम गंभीर, किया ट्वीट – क्या हम सब बहरे हो गए हैं ?
3 गाड़ी में लाल बत्ती लगे होने के सवाल पर भड़के कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, बोले- मैं अभी क्यों हटाऊं बत्ती?
ये पढ़ा क्‍या!
X